बड़ी खबर राजनीति

चुनाव में प्रत्याशी ने बांटा ‘कुकर’ और ‘मिक्सी’, हार के बाद वापस मांगा तो खुद फंस गया

मतदाताओं को लुभाने के लिए कुकर मिक्सी सहित कई महंगे उपकरण प्रत्याशी ने बांटे थे लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद प्रत्याशी हार गया। इस बात से प्रत्याशी बौखला उठा।

रायपुर, छत्तीसगढ़ में इन दिनों त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव चल रहे हैं। इस दौरान कई अलग-अलग तरह के मामले सामने आ रही है। राज्य में पंचायती चुनाव में प्रलोभन की राजनीति भी जमकर चली है। ऐसे एक मामले का खुलासा होने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने इस पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। दरअसल राजधानी रायपुर के नजदीक स्थित मंदिरहसौद के भानसोज पंचायत में प्रथम चरण के तहत 28 तारीख को मतदान हुए थे। इसी दौरान चुनाव परिणाम भी जारी हुए।

चुनाव के पहले यहां पंच पद के एक प्रत्याशी ने लोगों से वोट अपील करते हुए बड़ी संख्या में घरेलू सामान बांटे थे। मतदाताओं को लुभाने के लिए कुकर, मिक्सी सहित कई महंगे उपकरण प्रत्याशी ने बांटे थे, लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद प्रत्याशी हार गया। इस बात से प्रत्याशी बौखला उठा और उसने जिन्हें घरेलू सामान बांटे थे, उनसे सामान वापस करने के लिए कहा।

इसके बाद नाराज लोग अपने-अपने घरों से चुनाव के दौरान मिले सामान को लेकर बस स्टैंड के पास एकत्र हुए। देखते-देखते वहां घरेलू सामानों का ढ़ेर लग गया। इस घटना की क्षेत्र में काफी चर्चा हुई और इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। इसके बाद पंचायत चुनाव में प्रलोभन की राजनीति के इस मामले का पटाक्षेप हुआ। अब मामला सामने आने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने इसे स्वतःसंज्ञान में लेते हुए उक्त प्रत्याशी के खिलाफ निर्वाचन अधिनियम के तहत नियमानुसार कार्रवाई के आदेश जारी किए हैं।

सामान वापस करने बस स्टैंड पर पहुंचे ग्रामीण

भानसोज बस स्टैंड चौराहे पर बुधवार को यह अजीब नजारा देखने को मिला जब लोग अपने घरों से कुकर, मिक्सी, पैंट-शर्ट के कपड़े सहित शराब की बोतलें तक ले कर पहुंचे और चौक पर उसे रख दिया। सैकड़ों लोगों ने इस तरह का सामान चौक पर लाकर रखा। पूछने पर लोगों ने बताया कि प्रत्याशी मनोहर देवांगन ने उन्हें यह सामान उसके पक्ष में वोट देने के वादे पर दिए थे।

परिणाम आने पर वह प्रत्याशी हार गया और फिर उसने घर-घर जाकर लोगों को सामान वापस करने के लिए धमकाना शुरू कर दिया। इससे लोग नाराज हो उठे और एक मत होकर सभी ने इस तरह का तरीका अपनाया। चौक पर सामान का ढ़ेर लगे होने की सूचना पुलिस को मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब पूछताछ की तो लोगों ने बताया कि उन्हें प्रत्याशी ने यह सामान बांटे थे और अब वापस मांगने के लिए उन्हें धमका रहा है।

चुनाव आचार संहिता के खुले उल्लंघन और प्रलोभन की राजनीति के अपने आप में इस अलग तरह के मामले का खुलासा होने के बाद इसकी जमकर चर्चा चल रही है। निर्वाचन आयोग तक तब यह खबर पहुंची तो राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा था कि इस मामले में उचित कार्रवाई करेंगे। इसके बाद आयोग ने मामले को स्वसंज्ञान में लेते हुए उक्त प्रत्याशी के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *