भारतीय मानवाधिकार परिषद अधिवेशन में आचार्य डा.लोकेश मुनि को सुनने के लिए उमड़ा जन सैलाब सभी धर्म के लोग एकजुट होकर देश हित के लिए कार्य करे – आचार्य लोकेश

        

         नई दिल्ली : अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि ने बैंगलोर मे आयोजित भारतीय मानवाधिकार परिषद अधिवेशन को संबोधित करते हुये कहा कि व्यक्तिगत स्वतंत्रता, समानता, शांतिप्रिय सहअस्तित्व स्वस्थ समाज की संरचना के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण है | टाउन हाल मे आयोजित भारतीय मानवाधिकार परिषद अधिवेशन में देश के कोने कोने से प्रतिनिधी आए थे  और आचार्य लोकेश को सुनने के लिए पूरे देश से जन सैलाब आया था |

          आचार्य लोकेश ने सामाजिक सौहार्द कि बात करते हुये कहा कि सभी धर्म के अनुयायियों को एकसाथ देश हित के लिए काम करना चाहिए और विश्व शांति का आह्वान किया | उन्होने आगे कहा कि राष्ट्र भक्ति, धर्म शक्ति और सामाजिक समरसता के लिए जरूरी है कि सभी धर्म के लोग आपसी सहयोग व सहभागिता से कार्य करे | उन्होने कहा कि राजनैतिक, सामाजिक, धार्मिक कार्यकर्ताओं का यह कर्तव्य है कि इस बात पर ध्यान दे कि किसी के मानवाधिकार का हनन न हो, कोई दास नहीं बनाना चाहिए, किसी को पीड़ा नहीं देनी चाहिए | हमें अपने साथ दूसरों की भी स्वतंत्रता और विचारों का आदर करना चाहिए | उन्होने संस्था के अध्यक्ष हाजी शेख और संस्था कि सराहना करते हुये कहा कि यही गंगा यमुनी बहुलतावादी संस्कृति हमारे देश कि खूबी है |

          हाजी शेख  ने आचार्य लोकेश को प्रतीक चिन्ह एवं शाल भेंट कर सम्मानित करते हुये कहा कि आचार्य लोकेश मुनि समाज मे शांति और धार्मिक सौहार्द कि स्थापना करने के लिए निरंतर प्रयासरत है | उनको सम्मानित कर हम स्वयं सम्मानित हो रहे है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *