13 साल की बच्ची का रेस्क्यू, मामा जबरदस्ती कराना चाहता था शादी

महिला हेल्पलाइन पर शिकायत के बाद पुलिस ने दिल्ली के आरके पुरम इलाके से 13 साल की एक लड़की को रेस्क्यू किया है.

नई दिल्ली, स्टार सवेरा ।

नाबालिग लड़की की शादी जबरदस्ती एक बड़े उम्र के व्यक्ति से की जा रही थी. दिल्ली के महिला हेल्पलाइन पर शिकायत मिलने के बाद दिल्ली महिला आयोग और पुलिस की टीम ने साथ मिलकर पीड़िता को रेस्क्यू किया.

महिला हेल्पलाइन पर शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस ने आरके पुरम इलाके से 13 साल की एक लड़की को रेस्क्यू किया है. नाबालिग लड़की की शादी जबरदस्ती एक बड़े उम्र के व्यक्ति से की जा रही थी. दिल्ली के महिला हेल्पलाइन पर शिकायत मिलने के बाद दिल्ली महिला आयोग और पुलिस की टीम ने साथ मिलकर पीड़िता को रेस्क्यू किया.

दरअसल, 181 महिला हेल्पलाइन पर शिकायत मिली थी की एक नाबालिग लड़की की शादी कराई जा रही है. शिकायत मिलने पर आयोग ने एक टीम बनाई और उस नंबर पर संपर्क किया. फोन पर एक आदमी ने बात की और बताया कि एक 13 साल की लड़की ज्योति (परिवर्तित नाम) की जबरदस्ती शादी की जा रही है. दिल्ली महिला आयोग की टीम तुरंत उस इलाके में पहुंची और लोगों से ज्योति नाम की लड़की की शादी के बारे में पूछताछ करने लगी.

इलाके में लोगों से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला, लेकिन आयोग की टीम ज्योति को तलाश करती रही और हर घर में पूछताछ को जारी रखा. टीम की नजर एक सार्वजनिक पानी की टंकी के पास पानी भर रही लड़की पर पड़ी. आयोग की टीम ने जब उससे ज्योति के बारे में पूछा तो उसने इशारे से बताया की वहीं ज्योति है और उसने अपने घर की तरफ भी इशारा किया. वह पानी भरती रही और आयोग की टीम भी तलाशी करने का दिखावा करती रही.
इस दौरान आयोग की टीम ने पुलिस को सूचना देकर बुला लिया. पुलिस की सहायता से पीड़ित लड़की को उसके मामा और आसपास के लोगों के विरोध के बावजूद घर से रेस्क्यू किया गया.

पुलिस थाने में पीड़ित लड़की बहुत डरी हुई थी, उसने बताया कि उसका असली नाम कुछ और है. उसने ज्योति नाम केवल फोन करने के लिए इस्तेमाल किया था. 13 वर्षीय पीड़ित लड़की ने बताया कि वह कर्नाटक से है और उसके माता पिता की मृत्यु हो चुकी है, इसलिए वह यहां पर अपने नाना-नानी और मामा के साथ रहती है. कुछ समय पहले उसको पता चला कि उसके मामा उसको 19 अप्रैल को कर्नाटक ले जाने की योजना बना रहे हैं, ताकि वह उसकी शादी अपने जान-पहचान के एक आदमी से करा सके जो कि उम्र में लड़की से बहुत बड़ा है.

पीड़ित लड़की ने बताया कि वह इस शादी के विरोध में थी और उसने इस बारे में कई बार अपने नाना-नानी को बताया. जब कहीं से कोई सहायता नहीं मिला तो उसने एक अजनबी व्यक्ति का फोन लेकर दिल्ली महिला आयोग की 181 हेल्पलाइन पर फोन किया. पीड़ित लड़की ने बताया कि उसने इलाके में आयोग की मोबाइल हेल्पलाइन की गाड़ी पहले देखी थी, और वह 181 हेल्पलाइन के बारे में पहले से जानती थी क्योंकि वहां की कुछ महिलाओं ने घरेलू हिंसा के मामलों में 181 पर फोन करके आयोग से सहायता मांगी थी. पीड़ित लड़की ने बताया कि वह पांचवीं तक पढ़ी हुई है और उसको आगे भी पढ़ाई करनी है.
पीड़ित लड़की को मेडिकल जांच के बाद बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया जहां से उसको शेल्टर होम भेज दिया गया. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि यह बहुत प्रशंसा की बात है की लड़की ने अपने परिवार से लड़ने और आयोग की 181 हेल्पलाइन पर फोन करने में इतनी हिम्मत दिखाई. हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि लड़की के रिश्तेदारों पर उसकी जबरदस्ती शादी कराने के लिए एफआईआर दर्ज हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *