एसिडिटी का कारण बन सकते हैं ये 7 खाद्य पदार्थ, इनसे बचें

हम सभी हैवी डाइट लेने के बाद बहुत अच्छा महसूस करते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि हैवी डाइट लेने के बाद कई बार सीने में जलन का अनुभव भी होने लगता है, खट्टी डकार आने लगती है.

हम सभी हैवी डाइट लेने के बाद बहुत अच्छा महसूस करते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि हैवी डाइट लेने के बाद कई बार सीने में जलन का अनुभव भी होने लगता है, खट्टी डकार आने लगती है. वैसे, कुछ खाद्य पदार्थ जो सार्वभौमिक रूप से समस्याग्रस्त हैं, का सेवन करने के बाद आपको एसिडिटी होती है. यह कुछ अत्यधिक अम्लीय खाद्य पदार्थों के कारण होता है, जिन्‍हें हमारा शरीर आसानी से डाइजेस्‍ट नहीं कर पाता. जिसके परिणामस्‍वरूप एसिडिटी बनने लगती है. यदि आप बार-बार एसिड रिफ्लक्स का अनुभव कर रहे हैं, तो यही समय है कि आप इसकी जड़ तक पहुंचने की कोशिश करें. इसके बजाय कुछ आसानी से हजम होने वाले खाद्य पदार्थ चुनें जो आपके पेट में एसिड को कंट्रोल करते हैं. कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो एसिडिटी का कारण बन सकते हैं, आइए इनके बारे में जानते हैं:

सर्दियों में आसानी से कम होगा वजन, डाइट में शामिल करें प्रोटीन से भरपूर ये 3 खाद्य पदार्थ

1. चॉकलेट
चॉकलेट का टेस्‍ट शायद ही किसी को न पसंद हो, लेकिन यह आपके पेट के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकती है. वास्तव में, तीन कारण हैं जो चॉकलेट को उन लोगों के लिए एक बुरा विकल्प बनाते हैं जो अक्सर एसिड से परेशान रहते हैं. सबसे पहले, इसमें कैफीन और थियोब्रोमाइन जैसे अन्य पदार्थ होते हैं, जो एसिड का कारण बनते हैं. दूसरा, इसमें काफी फैट होता है, जो एसिड का कारण भी बनता है और तीसरा इसकी अतिरिक्त कोको सामग्री है, जो रिफ्लक्‍स को बढ़ावा देने के लिए भी जिम्मेदार होती है. हम आपको चॉकलेट खाना बंद करने के लिए नहीं कह रहे हैं, लेकिन इन परेशानियों से बचने के लिए इसकी सीमित मात्रा लेने की सलाह जरूर दे रहे हैं.

2. सोडा
पेट में एसिड पैदा करने के सोडा और अन्य कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स जिम्मेदार हैं. कार्बोनेशन के बुलबुले पेट के अंदर फैलते हैं. बढ़ते दबाव के कारण जलन होने लगती है. वास्तव में, सोडे में कैफीन भी होता है, जो एसिड बनाने में योगदान देता है.

3. अल्‍कोहल
बीयर और वाइन जैसे विभिन्न मादक पेय न केवल पेट में गैस्ट्रिक एसिड को बढ़ाते हैं, बल्कि शरीर को डिहाइड्रेट कर एसिड बनाते हैं. इसके अलावा, यहां तक कि अगर आप अल्‍कोहल ले रहे हैं, तो इसे सोडा या कार्बोनेटेड पेय के साथ न मिलाएं.

4. कैफीन
एक दिन में एक कप कॉफी या चाय पीना ठीक है, इसका अधिक सेवन आपको एसिडिटी का शिकार बना सकता है, क्योंकि इनमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है. कैफीन के सेवन से पेट में गैस्ट्रिक एसिड का स्राव होता है, जिससे एसिडिटी होती है. कभी भी खाली पेट चाय या कॉफी न पिएं.

5. मसालेदार खाना
मसालेदार खाने का अधिक सेवन हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता है. मिर्च, गर्म-मसाला और काली मिर्च सभी नेचुरल रूप से एसिडिक होते हैं. इन्हें खाने से एसिड बनने लगता है. ये हेल्‍दी हो सकते हैं, अगर आप इनका सेवन सीमित मात्रा में करते हैं.

6. फैटी फूड
फैटी फूड्स अत्यधिक अम्लीय होते हैं और वे पेट में लंबे समय तक रहते हैं, जिससे एसिडिटी होने की संभावना बढ़ जाती है. बहुत अधिक फ्राईड फूड, मीट खाने से बचें, इन्‍हें डाइजेस्‍ट होने में काफी टाइम लग‍ता है. इसके बजाय, लीन मीट और बेक्‍ड फूड्स का रूख करें, ये ज्‍यादा हेल्‍दी होते हैं.

7. खट्टे फल
निस्संदेह फ्रूट्स हेल्‍दी होते हैं, हालांकि, कुछ खट्टे फल अगर खाली पेट खाए जाएं, तो यह एसिडिटी का कारण बन सकते हैं. संतरा, नींबू, टमाटर, जामुन जैसे खट्टे फल अत्यधिक अम्लीय होते हैं और हार्ट बर्न का कारण बन सकते हैं. कभी भी खाली पेट इन फलों का सेवन न करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *