बड़ी खबर राष्ट्रीय

ट्रेन में महंगी होने जा रही है चाय की चुस्की, इन ट्रेनों में नाश्ते और भोजन के लिए देना होगा ज्यादा पैसा

अब ट्रेन में सफर करने पर आपको भोजन के लिए ज्यादा पैसे का भुगतान करना पड़ सकता है। दरअसल पर्यटन एंव खान पान विभाग ने इसके लिए सर्कुलर जारी कर दिया है।

नई दिल्ली, रेल में यात्रा करते हैं तो अब आपको अपनी जेब थोड़ी ढिली करने के लिए तैयार हो जाइये। क्योंकि जनाब अब आपको चाय की चूस्कियों और भोजन के लिए ज्यादा खर्च करना पड़ेगा। दरअसल, रेलवे बोर्ड में पर्यटन एंव खान पान विभाग के निरदेशक की ओर से एक सर्कुलर जारी किया गया है। जिसके अनुसार, शताब्दी, दुरंतो और राजधानी ट्रेनों में खाना के दाम बढ़ा दिए जाएंगे।

बता दें कि इन सभी ट्रेनों में जब आप टिकट लेतें है उसी में चाय और खाने के पैसे भी देना होते हैं। इतना ही नहीं दूसरी ट्रेनों के यात्रियों को भी इस महंगाई का सामना करना पड़ सकता है।

अब चूकाने होंगे इतने पैसे

लागू की गई नई दरों के अनुसार, शताब्दी, दुरंतों और राजधानी में सफर करने वाले यात्रियों को चाय के लिए अब 10 रुपये की जगह 20 रुपये चुकाने होंगे। वहीं बात करें स्लीपर क्लास की तो यहां यात्रियों को इसके लिए महज 15 रुपये का भुगतान करना होगा। वहीं दुरंतो के स्लीपर क्लास में नाश्ता या खाना पहले 80 रुपये में मिलता था। जोकि अब 120 रुपये का हो गया है। शाम को जो चाय दी जाती थी इसकी किमत पहले 20 रुपये थी। अब उसके लिए आपको 50 रुपये देने होंगे।

इतने महीने बाद लागू हो जाएंगी नई दरें

इस नए मेन्यू को टिकटिंग सिस्टम में 15 दिनों के अंदर अपडेट कर दिया जाएगा। हालांकि इसे लागू करने में थोड़ा समय लगेगा। इसे करीब चार महीने बाद लागू किया जाएगा। नई दरें लागू होने के साथ ही राजधानी के फर्स्ट एसी कोच में खाना 145 रुपये की जगह 245 में मिलेगा।

इन दरों से सिर्फ प्रीमियम ट्रेनों के यात्री ही प्रभावित नहीं होंगे बल्कि आम जनता भी इससे काफी प्रभावित होगी। राजधानी और रेग्युलर मेल में शाकाहारी भोजन 80 रुपये का मिलेगा। हालांकि, वर्तमान में यात्रियों को इसके लिए 50 रुपये ही चुकाने पड़ेंगे। आईआरसीटीसी रेल यात्रियों को जो चिकन बिरयानी देती है उसके लिए 110 रुपये और एग बिरयानी के लिए 90 रुपये देनें होंगेय़ इसी के साथ रेग्युलर ट्रेनों में 130 रुपये की कीमत पर चिकन करी भी परोसी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *