बड़ी खबर राष्ट्रीय

राष्ट्रपति भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरीए PRez कोविंद ने 7 देशों के राजदूतों का क्रेडेंशियल्स स्वीकार किया

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सात देशों के राजदूतों का डिजिटल माध्यम से स्वागत किया और राजदूतों ने उनका अभिनंदन किया।

नई दिल्ली,  राष्ट्रपति भवन द्वारा गुरुवार को बताया गया कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सात देशों के राजदूतों का डिजिटल माध्यम से स्वागत किया और राजदूतों ने उनका अभिनंदन किया। राष्ट्रपति कोविंद ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से डीपीआर कोरिया, सेनेगल, कोटे डी आइवर के राजदूत के साथ-साथ त्रिनिदाद और टोबैगो, मॉरिशस, ऑस्ट्रेलिया और रवांडा के उच्चायुक्तों से क्रेडेंशियल्स स्वीकार की।

राम नाथ कोविंद डिजिटल माध्यम से सात देशों के राजदूतों से वार्तालाब करने वाले पहले राष्ट्रपति बन गए हैं। बता दें कि क्रेडेंशियल्स की प्रस्तुति के लिए विस्तृत समारोह को कम करना पड़ा, क्योंकि कोरोना महामारी के कारण राष्ट्रपति कोविंद शारीरिक दूरी के लिए प्रतिबद्ध हैं।

राष्ट्रपति कोविंद ने राजदूतों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी ने वैश्विक समुदाय के लिए एक अभूतपूर्व चुनौती पेश की है और इस संकट से निपटने के लिए वैश्विक सहयोग की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत महामारी से लड़ने में साथी देशों को समर्थन देने में सबसे आगे है।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि आज का समारोह भारत के डिजिटल कूटनीतिक कदम में एक नया आयाम जोड़ता है। राष्ट्रपति भवन के बयान के अनुसार कि राष्ट्रपति भवन के इतिहास में यह पहला मौका है जब वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राजदूतों ने परिचय पत्र सौंपे।

बता दें कि कोरोना वायरस के कारण शारीरिक दूरी रखने की सलाह दी गई है। इस वजह से सभी तरह से कार्य वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हो रहे हैं। बात भारत की करें तो देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। लगातार तीसरे दिन पांच हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए और संक्रमितों का आंकड़ा 1,12,359 पहुंचा गया है। देश में पिछले 24 घंटे में 5609 नए मामले सामने आए हैं।

बुधवार को रिकॉर्ड 5611 और मंगलवार को 5300 से ज्यादा नए केस मिले थे। देश में कोरोना वायरस के कुल 63,624 एक्टिव केस हैं और अब तक 3435 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या 39 हजार के पार पहुंच गई है और अब तक 1,390 लोगों की जान भी जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *