खेल बड़ी खबर

सुरेश रैना बोले- ये धाकड़ खिलाड़ी था वर्ल्ड कप 2011 में गेंदबाजी विभाग का सचिन तेंदुलकर

सुरेश रैना ने भारतीय टीम के एक गेंदबाज को साल 2011 के वर्ल्ड कप का गेंदबाजी विभाग का सचिन तेंदुलकर बताया है।

नई दिल्ली, भारतीय टीम के बल्लेबाज सुरेश रैना ने शुक्रवार को 2011 में वर्ल्ड कप जीतने की याद को ताजा किया। मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज सुरेश रैना ने साल 2011 के वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के लिए नॉकआउट मैचों में शानदार प्रदर्शन किया था।

सुरेश रैना ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में नाबाद 34 रन और सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ 36 रन की पारी खेली थी। वहीं, 2 अप्रैल 2011 को श्रीलंका को हराकर भारत ने विश्व कप जीता था। इसको लेकर सुरेश रैना ने कहा है कि इस दिन हम अब होली और दिवाली की तरह सेलिब्रेट करते हैं।

चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज सुरेश रैना ने भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जहीर खान की तारीफ की है, क्योंकि उन्होंने शुरुआत से लेकर आखिर तक वर्ल्ड कप 2011 में शानदार प्रदर्शन किया था। इतना ही नहीं, सुरेश रैना ने जहीर खान को भारत के गेंदबाजी विभाग का सचिन तेंदुलकर बताया है। रैना ने कहा है, “जो भी निर्णय हमने लिए वो हमारे पक्ष में गए। जहीर भाई ने गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व किया। हर कोई गेंदबाजी लाइनअप की बात कर रहा था, लेकिन मैं कह सकता हूं कि वह गेंदबाजी विभाग के सचिन तेंदुलकर थे।

रैना ने बताया है, “जब भी टीम को विकेट की तलाश होती थी तो जहीर खान वो काम करते थे। इसके बाद सबसे बड़ा योगदान युवराज सिंह ने दिया जिन्होंने गेंद के साथ-साथ बल्ले से भी मैच फिनिश किए।” गौरतलब है कि उस वर्ल्ड कप में जहीर खान संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे। जहीर खान और पाकिस्तान के स्पिनर शाहिद अफरीदी ने 21-21 विकेट वर्ल्ड कप 2011 में अपने नाम किए थे। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जहीर ने 9 मैचों में 21 विकेट हासिल किए थे, उनका एवरेज 18.76 था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *