राहुल ने फिर PM को घेरा, बोले-वाड्रा-चिदंबरम पर जांच के लिए तैयार, आप राफेल पर भी जांच कराएं

राफेल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोपों पर राहुल गांधी ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने सीधे 30 हजार करोड़ की चोरी की है और अपने दोस्त अनिल अंबानी को दिया। राहुल के डिफेंस मंत्रालय के पत्र के हवाले पर तत्कालीन डिफेंस सेक्रेटरी ने सफाई देते हुए कहा कि पत्र का कीमत से संबंध नहीं था।

नई दिल्ली, स्टार सवेरा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण की अगली सुबह ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पलटवार किया। राहुल ने फिर एक बार राफेल में हुए भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस डील में चोरी की है। राहुल ने एक अखबार में छपी रिपोर्ट के हवाले से दावा किया कि इस डील में सीधे-सीधे पीएम शामिल थे। रॉबर्ट वाड्रा और पी. चिदंबरम पर चल रही जांच पर उन्होंने कहा कि जिस पर जितनी चाहे जांच कराए, हमें आपत्ति नहीं है लेकिन राफेल पर भी जांच हो। तत्कालीन डिफेंस सेक्रटरी जी मोहन कुमार ने भी तत्काल सफाई देते हुए कहा कि जो भी मीडिया रिपोर्ट प्रकाशित हुई है उसका राफेल डील में कीमतों से कुछ लेना-देना नहीं था। इस बीच, बीजेपी ने राहुल के आरोपों पर कांग्रेस को घेरा है। बीजेपी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने देश के संवेदनशील मुद्दों को बदनाम करने की सुपारी ले रखी है।

बता दें कि शुक्रवार को एक अखबार में प्रकाशित खबर में दावा किया गया है कि भारत और फ्रांस के बीच हुई राफेल डील के दौरान रक्षा मंत्रालय ने पीएमओ द्वारा फ्रांस से ‘समानांतर’ बातचीत का विरोध किया था। राहुल ने 24 नवंबर 2015 का रक्षा मंत्रालय का एक नोट दिखाकर पीएम पर हमला बोला।

‘चौकीदार चोर है, 30 हजार करोड़ चोरी की’
पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद राहुल गांधी ने फिर राफेल मुद्दे में हुए भ्रष्टाचार का दावा किया। उन्होंने कहा, ‘हम एक साल पहले से कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राफेल घोटाले में शामिल हैं। आज एक अंग्रेजी अखबार में भी लिखा है कि प्रधानमंत्री नेगोशिएशन में सीधी भूमिका निभा रहे थे। इस देश की सेना के युवाओं से सीधे कहता हूं कि आप हमारी रक्षा करते हैं हमारे लिए लड़ते हैं और हमारे लिए जान देते हैं। प्रधानमंत्री ने 30 हजार करोड़ का घपला किया और इसे अपने दोस्त अनिल अंबानी की जेब में डाला।’

‘रक्षा मंत्री-प्रधानमंत्री ने बोला राफेल पर झूठ’
राहुल गांधी ने राफेल डील पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘मेरे बहुत प्रेस कॉन्फ्रेंस हुए। निर्मला सीतारमण ने झूठ बोला, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झूठ बोला, डेढ़ घंटे मेरे से बातचीत की और झूठ बोला। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद जी ने कहा था कि नरेंद्र मोदी जी ने डायरेक्ट बोला था कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट मिलना चाहिए।’

‘नेगोशिएशन में पीएम ने निभाई भूमिका’
कांग्रेस अध्यक्ष ने अंग्रेजी अखबार में छपी खबर का हवाला देते हुए कहा कि डिफेंस मिनिस्ट्री ने ताकीद की थी कि पीएमओ के शामिल होने पर डील की नेगोशिएशन प्रभावित हो सकती है, लेकिन फिर भी पीएम शामिल हुए। राहुल ने अंबानी की कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिए जाने को कॉर्पोरेट वॉर के सवाल पर कहा कि कॉर्पोरेट वॉर था, लेकिन नरेंद्र मोदी ने अनिल अंबानी के लिए नेगोशिएशन किया।

‘चोर-चौकीदार का दोहरा व्यक्तित्व जीते हैं पीएम?’
पीएम मोदी ने कल अपने भाषण में उल्टा चोर कोतवाल को डांटे कहा था। इस पर तीखा हमला करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि वह दोहरे व्यक्तित्व के हैं सीजोफ्रेनिया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘उनकी दो पर्सनैल्टी हैं एक वक्त में चोर और एक वक्त में चौकीदार बन जाते हैं। वह खुद को चोर चौकीदार दोनों बता रहे हैं।

कांग्रेस मुक्त भारत पर राहुल ने ली चुटकी
कांग्रेस मुक्त भारत के सवाल पर कांग्रेस अध्यक्ष ने चुटकी ली। उन्होंने कहा, ‘वेरी गुड! कांग्रेस को खत्म कर देंगे। बहुत अच्छा काम किया राजस्थान में कर दिया, छत्तीसगढ़ में मध्य प्रदेश में किया वेरी गुड! ऑपरेशन। ऐसे ही खत्म करने का काम करते रहिए।’ मोदी ने राफेल पर पीएम मोदी को राफेल पर देश के सामने जवाब देने की मांग की। उन्होंने कहा, ‘आप एक जवान को बुलेट प्रूफ जैकेट देते हो और अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ देते हो। नरेंद्र मोदी भाषण देते हैं तो देश की वायु सेना को समझाएं कि डिफेंस मिनिस्ट्री ये क्यों लिख रही है कि मोदी समानांतर नेगोशिएशन कर रहे हैं।’

वाड्रा-चिदंबरम पर बिल्कुल जांच कराएं’
राहुल गांधी पर अपने जीजा रॉबर्ट वाड्रा पर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चल रही जांच पर भी टिप्पणी दी। उन्होंने कहा कि आप जिस पर जो जांच करना चाहते हैं कराएं। कांग्रेस में पी. चिदंबरम पर जांच करना चाहते हैं कर लें, लेकिन राफेल पर भी जांच करें। आप जितना इनक्वॉयरी करना चाहते हैं करिए रॉबर्ट वाड्रा पर चिदंबरम पर जांच करिए। कानून को अपनी प्रक्रिया पूरी करने दीजिए।’

पूर्व डिफेंस सेक्रटरी का इनकार
राफेल डील के समय डिफेंस सेक्रटरी रहे कुमार ने कहा कि जो भी सामने आया है उसका राफेल की कीमतों से कोई लेना-देना नहीं है।

बीजेपी का पलटवार
राफेल पर राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद बीजेपी ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि कुछ लोग, खासतौर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी संवेदनशील मुद्दों को बदनाम करने की सुपारी ले रखी है। कांग्रेस की स्थिति है, ना इज्जत कि चिंता ना फिक्र किसी अपमान का, जय बोलो बेइमान का।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *