दिल्ली बड़ी खबर

भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि दिल्‍ली-कटड़ा वंदे भारत ट्रेन का ट्रायल पूरा कर लिया गया है।


भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि दिल्‍ली-कटड़ा वंदे भारत ट्रेन का ट्रायल पूरा कर लिया गया है।

नई दिल्‍ली, भारतीय रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा है कि दिल्‍ली-कटड़ा वंदे भारत ट्रेन का ट्रायल पूरा कर लिया गया है। यह ट्रेन तीर्थयात्रियों के लिए एक उपहार होगी और यह नवरात्रि से चलाई जाएगी। यह ट्रेन नई दिल्ली से कटड़ा और कटड़ा से नई दिल्ली से बीच सप्ताह में 5 दिन चलेगी। उन्‍होंने कहा कि देश के व्‍यस्‍त रूटों को अपग्रेड किया जा रहा है। दिल्‍ली-मुंबई और दिल्‍ली-हावड़ा रूट को दिसंबर, 2021 तक चलाया जाएगा।

यात्रा के समय में आएगी कमी

इस तेज रफ्तार ट्रेन के कारण दिल्‍ली और कटड़ा के बीच यात्रा का समय होगा। पहले वैष्‍णो देवी मंदिर की यात्रा के लिए 12 घंटे का समय लगता था, लेकिन इस ट्रेन के कारण सिर्फ 8 घंटे का समय लगेगा। पहली वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन या ट्रेन-18 दिल्‍ली- वाराणसी के रूट पर लांच की गई थी।

देश में चलाई जाएंगी 40 वंदे भारत ट्रेनें

उन्‍होंने कहा कि देश में 2022 तक 40 वंदे भारत ट्रेनें चलाई जाएंगी। नए विशिष्‍ट निर्देशों के अनुसार काम किया जा रहा है। इस काम में पूरी तरह पारदर्शिता होगी। यह काम मेक इन इंडिया प्रोजेक्‍ट का हिस्‍सा होगा।

दूसरे रूट पर चलेगी वंदे भारत ट्रेन

उन्‍होंने कहा कि दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस, जो व्‍यस्‍त ट्रैफिक दिल्ली-कटरा मार्ग पर चलेगी। यह ट्रेन त्‍योहारी सीजन से पहले चलाई जाएगी। रेलवे बोर्ड ने दिल्ली-कटड़ा मार्ग को वैष्णो देवी मंदिर की तीर्थयात्रा के कारण सबसे व्‍यस्‍त रूट को भुनाने के लिए चुना था।

ट्रेन की औसत रफ्तार होगी 82 किलोमीटर प्रति घंटा

वंदे भारत की अधिकतम रफ्तार 130 किलोमीटर, जबकि औसत रफ्तार 82 किमी प्रति घंटा होगी। दिल्ली से लुधियाना के बीच ये ट्रेन 120-130 की रफ्तार से चलेगी। जबकि लुधियाना से कटड़ा के बीच इसकी रफ्तार 75-80 किलोमीटर रहेगी। इस तरह दिल्ली-कटड़ा का इसका पूरा सफर 82 किलोमीटर प्रति घंटा की औसत रफ्तार से पूरा होगा।

ट्रेन में कुल 1128 सीटें होंगी

दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस में 16 कोच लगाए जाएंगे। इसमें बैठने के लिए कुल 1128 सीटें हैं। इसमें सामान्य चेयर कार के 14 डब्बे होंगे, जिनमें 936 सीटें होंगी। जबकि दो एग्जीक्यूटिव चेयर कार में 104 सीट होंगी। नई दिल्ली से कटरा तक का चेयरकार का किराया करीब 1600 रुपये होगा। जबकि एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 3000 रुपये के आसपास रखा गया है।

ये होंगे स्टापेज

दिल्ली- कटड़ा वंदे भारत नई दिल्ली से सुबह 6 बजे चलेगी और दोपहर 2 बजे श्रीमाता वैष्णो देवी कटड़ा स्टेशन पहुंचेगी। वापसी में यह ट्रेन दोपहर बाद 3 बजे कटड़ा से चलेगी और रात 11 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। बीच में अंबाला कैंट, लुधियाना और जम्मू तवी में इसके स्टापेज होंगे।

संरक्षा आयुक्त ने दिए सुझाव

संरक्षा आयुक्त ने लुधियाना और कटड़ा के भी ट्रैक को 130 किमी की स्पीड के लिए अनुपयुक्त बताया है और सुधार के सुझाव दिए हैं। यही वजह है कि फिलहाल लुधियाना-दिल्ली के बीच ट्रेन को सिर्फ 75 किमी की रफ्तार पर चलाने का फैसला हुआ है।मोदी सरकार का तोहफा, नवरात्र से चलेगी दिल्‍ली-कटड़ा वंदे भारत ट्रेन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *