क्राइम

गाजियाबादः 10 मंजिला इमारत के फ्लैट में लगी आग, तीन की मौत

आग बुझाने के बाद लोगों ने अंदर तीन शव देखे तो उनके होश उड़ गए. तीनों शव काफी जल चुके थे. पुलिस ने तीनों शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया और तहकीकात शुरू करा दी. मौके पर फॉरेंसिक टीम भी पहुंची और साक्ष्य जुटाए.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद के विजयनगर थाना क्षेत्र के प्रताप विहार इलाके में मंगलवार की देर शाम 10 मंजिला इमारत के एक फ्लैट में आग लग गई. स्थानीय नागरिकों ने फ्लैट से धुंआ निकलते देख तत्परता दिखाते हुए आग बुझाई. इस घटना में दो पुरुष और एक महिला समेत तीन लोगों के मरने की खबर है. सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाने के साथ ही तहकीकात शुरू कर दी है.

जानकारी के अनुसार बांदा के मूल निवासी 50 वर्षीय बच्चू सिंह अपनी 44 वर्षीय पत्नी शकुंतला उर्फ रानी, 45 वर्षीय छोटे भाई राम नारायण, बेटा गुलशन और बेटी राखी के साथ इस फ्लैट में रहते थे. जीडीए इस अपार्टमेंट का निर्माण करा रहा है और पूरी इमारत में अभी कुछ ही परिवार रह रहे हैं. मृतक बच्चू सिंह जीडीए में सुपरवाइजर के पद पर तैनात थे, जिसकी वजह से उन्हें इसमें रहने की अनुमति मिल गई थी.

बच्चू सिंह के बच्चे पढ़ाई के साथ- साथ रंगमंच के क्षेत्र में भी सक्रिय हैं. घटना के समय वह रंगमंच के कार्यक्रम के लिए घर से बाहर गए हुए थे और घर में बच्चू सिंह उनकी पत्नी और छोटा भाई यानी कुल 3 लोग ही मौजूद थे. देर शाम बिल्डिंग के चौकीदार ने फ्लैट से धुआं निकलता देखा तो उसने आसपास के लोगों को इसकी जानकारी दी. स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और फ्लैट में लग रही आग को कड़ी मशक्कत के बाद बुझाया गया. साथ ही इसकी सूचना स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग को भी दी गई.

आग बुझाने के बाद लोगों ने अंदर तीन शव देखे तो उनके होश उड़ गए. तीनों शव काफी जल चुके थे. पुलिस ने तीनों शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया और तहकीकात शुरू करा दी. मौके पर फॉरेंसिक टीम भी पहुंची और साक्ष्य जुटाए. फ्लैट में कैसे लगी, इसकी गहन छानबीन की जा रही है.

इस संबंध में एसपी सिटी मनीष कुमार मिश्रा ने बताया कि घटना की जानकारी बच्चू के परिजनों और बच्चों को दे दी गई है. उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगने की बात सामने आ रही है. जिलाधिकारी ने जीडीए से इस घटना को लेकर रिपोर्ट तलब की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *