उत्तर प्रदेश बड़ी खबर

सड़क मार्ग से सिर्फ 14 घंटे में दिल्ली से मुंबई का सफर, यहां जानिए- पूरी योजना

गुरुग्राम से मुंबई तक कई राज्यों को जोड़ते हुए केंद्र सरकार 8 लेन का दिल्ली-मुंबई ग्रीन एक्सप्रेस-वे तैयार कर रही है। 2022 में यह एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाएगा।

हापुड़, भारत माला परियोजना के अंतर्गत दिल्ली से मुंबई तक की यात्र सड़क मार्ग से अब केवल 14 घंटे में तय की जा सकेगी। गुरुग्राम से मुंबई तक विभिन्न राज्यों को जोड़ते हुए केंद्र सरकार आठ लेन का दिल्ली-मुंबई ग्रीन एक्सप्रेस-वे तैयार कर रही है। वर्ष 2022 में यह एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाएगा। यह एक्सप्रेस-वे हरियाली के साथ अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। हापुड़ से कानपुर तक भी राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण शुरू कराया जाएगा। इस परियोजना की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार हो चुकी है।

सोमवार को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वी.के. सिंह, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने हापुड़ के पिलखुवा स्थित राजपूताना रेजीमेंट इंटर कॉलेज में बटन दबाकर गाजियाबाद के डासना से हापुड़ तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के तृतीय चरण का उद्घाटन किया।

इस मौके पर नितिन गडकरी ने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के साथ ही दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का महत्वपूर्ण केंद्र होगा। गुरुग्राम से मुंबई तक 1250 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात होते हुए मुंबई पहुंचेगा। इस एक्सप्रेस-वे में कुछ हिस्सा उत्तर प्रदेश का भी शामिल होगा। इस मार्ग से दिल्ली से मुंबई की यात्र करीब 240 किलोमीटर कम हो जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कानपुर से लखनऊ एवं हापुड़ से कानपुर एक्सप्रेस-वे की डीपीआर भी तैयार हो गई है। जल्द ही इस पर कार्य शुरू हो जाएगा। कानपुर से कोलकाता तक राष्ट्रीय राजमार्ग बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे भी जनवरी तक पूरा हो जाए, इसका प्रयास किया जा रहा है।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे देश का पहला 16 लेन का एक्सप्रेस-वे है। परियोजना के अंतर्गत दिल्ली के निजामुद्दीन से यूपी गेट तक 14 लेन का निर्माण हो चुका है। यूपी गेट से गाजियाबाद के डासना और डासना से मेरठ के परतापुर तक का निर्माण तेजी से चल रहा है। जनवरी तक डासना से मेरठ तक का निर्माण पूरा हो जाएगा। होली पर संपूर्ण दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाएगा।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि एक्सप्रेस-वे निर्माण में किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। इस मौके पर स्थानीय सांसद राजेंद्र अग्रवाल, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के चेयरमैन नागेंद्रनाथ सिन्हा और सीजेएम मनोज कुमार ने भी सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन पूर्व विधायक धर्मेश तोमर ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *