खेल

खिलाड़ियों के सामने झुका बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड, स्ट्राइक के बाद मान ली गईं इतनी शर्तें

India vs Bangladesh भारत दौरे पर आने से ठीक पहले बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने अपने देश के क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ बगावत कर दी थी जिसके बाद बोर्ड झुक गया है।

नई दिल्ली, India vs Bangladesh: भारत दौरे पर आने से ठीक पहले बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने अपने देश के क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ बगावत कर दी थी, जिसके बाद बोर्ड को खिलाड़ियों के सामने झुकना पड़ा। दरअसल, बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने शाकिब अल हसन के नेतृत्व में 11 मांगों को लेकर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ स्ट्राइक की थी। ऐसे में बांग्लादेश के भारत दौरे पर मंडरा रहे संकट के बादल हट गए हैं।

भारत दौरे से ठीक पहले खिलाड़ी और बोर्ड के बीच हुए इस विवाद को सुलझा लिया गया है। 23 अक्टूबर यानी बुधवार की रात खिलाड़ियों ने अपनी स्ट्राइक को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया है। बोर्ड ने खिलाड़ियों की ज्यादातर मांगों को स्वीकार कर लिया है। इससे पहले बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने खिलाड़ियों और बोर्ड के बीच होने वाली मध्यस्थता के लिए दिग्गज खिलाड़ी मशर्फे मुर्तजा को चुना था।

बैठक के बाद सुलझा विवाद

बुधवार की देर रात बांग्लादेश के क्रिकेटरों और बोर्ड के पदाधिकारियों के बीच लंबी बैठक हुई। इस बैठक में खिलाड़ियों ने बोर्ड से अपनी मांगों को स्वीकार कराया और फिर हड़ताल वापस ले ली। बैठक के बाद क्रिकेटरों ने इस बात का खुलासा किया कि उनकी ज्यादातर मांगें बोर्ड ने मान ली हैं। शाकिब अल हसन ने कहा, “बैठक में बीसीबी अध्यक्ष और निदेशक ने हमारी मांगों को ध्यान से सुना और उन्होंने हमें विश्वास दिलाया कि वे इन सभी मांगों को जल्द से जल्द पूरा करने की कोशिश करेंगे।”

मान ली गईं 11 में से 9 मांगें

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष नजमुल हुसैन ने बताया है कि बीसीबी ने क्रिकेटरों की 11 में से 9 मागों को स्वीकार किया है, जिनको पूरा किया जाएगा। खिलाड़ी और बोर्ड के बीच हुए समझौते के बाद बीसीबी भी तनावमुक्त हो गया है, क्योंकि बोर्ड बीसीसीआइ से पंगा नहीं ले सकता। बांग्लादेश और भारत के बीच 3 नवंबर से टी20 सीरीज शुरू होनी है। बीसीसीआइ किसी भी प्रकार से सीरीज नहीं रद कर सकती। ऐसे में शाकिब ने बताया है कि खिलाड़ी फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलेंगे और 25 अक्टूबर से भारत दौरे के लिए कैंप शुरू होना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *