बड़ी खबर राजनीति

अगले साल कश्मीर से कन्याकुमारी तक दौड़ेंगी ट्रेन, रेल मंत्री ने 2021 तक कटड़ा-बनिहाल रेलवे ट्रैक पूरा होने का दिया भरोसा

रेल मंत्री ने दिसंबर 2021 तक कटड़ा-बनिहाल रेलवे ट्रैक पूरा होने का दिया भरोसा हिमाचल प्रदेश से लेह को रेलवे ट्रैक के जरिए जोड़ने की परियोजना जल्द शुरू होगी।

जम्मू, अगले साल के आखिरी महीने से कश्मीर से कन्याकुमारी तक रेलगाड़ियां दौड़ने की पूरी उम्मीद है। जम्मू-श्रीनगर-बारामुला रेललाइन के कटड़ा-बनिहाल सेक्शन का निर्माण दिसंबर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा। यह रेलवे ट्रैक बनते ही कश्मीर से कन्याकुमारी तक रेल संपर्क बहाल हो जाएगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दैनिक जागरण द्वारा आयोजित एक वर्चुअल राउंड टेबल कांफ्रेंस में यह भी बताया कि हिमाचल प्रदेश से लेह को रेलवे ट्रैक के जरिए जोड़ने की परियोजना को भी जल्द शुरू किया जाएगा।

जम्मू, राज्य ब्यूरो। अगले साल के आखिरी महीने से कश्मीर से कन्याकुमारी तक रेलगाड़ियां दौड़ने की पूरी उम्मीद है। जम्मू-श्रीनगर-बारामुला रेललाइन के कटड़ा-बनिहाल सेक्शन का निर्माण दिसंबर 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा। यह रेलवे ट्रैक बनते ही कश्मीर से कन्याकुमारी तक रेल संपर्क बहाल हो जाएगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दैनिक जागरण द्वारा आयोजित एक वर्चुअल राउंड टेबल कांफ्रेंस में यह भी बताया कि हिमाचल प्रदेश से लेह को रेलवे ट्रैक के जरिए जोड़ने की परियोजना को भी जल्द शुरू किया जाएगा।

लॉकडाउन से पैदा हालात में रेलवे की विभिन्न परियोजनाओं के प्रभावित होने संबंधी सवाल पर रेल मंत्री ने कहा कि पूंजीगत निवेश की सभी परियोजनाएं जारी रहेंगी। इनमें कोई कटौती नहीं होगी। हम निवेश को बढ़ाएंगे। अगर आवश्यकता हुई तो देश-विदेश में लोगों को जोड़ेंगे, उन्हें निवेश के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इसके अलावा पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप का भी मॉडल भी अपनाएंगे।

जम्मू-ऊधमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लिंक के 326 किलोमीटर का कुछ ही हिस्सा पूरा होना बाकी है। इस परियोजना में जम्मू संभाग के कटड़ा से कश्मीर घाटी के बनिहाल के बीच 111 किलोमीटर के हिस्से पर काम चल रहा है, जिसके अगले साल दिसंबर तक पूरा होने की रेल मंत्री ने बात की है। इस ट्रैक पर रियासी जिले में टनल नंबर-5 ही मुख्य बाधा थी, जो पिछले साल ही दूर कर ली गई थी। इस रेल लाइन पर कुल 27 पुल, 37 सुरंगें हैं। दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल भी इस पर है। 12 किलोमीटर लंबी एशिया की सबसे लंबी रेल सुरंग भी इस रूट की अहमियत को बढ़ाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *