दिल्ली

दिल्ली में पानी पर सियासत जारी, जल बोर्ड के दफ्तर में MCD का छापा

एमसीडी की टीम ने घरों में पानी सप्लाई करने जा रहे जल बोर्ड के टैंकर से पानी का सैंपल लिया.

इसके बाद वाटर ट्रॉली वाले प्लांट से भी एमसीडी ने सैंपल लिया. पानी की जांच की रिपोर्ट एक-दो दिन में आएगी. पानी के सैंपल पर आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के पानी को बदनाम किया जा रहा है.

राजधानी दिल्ली में पानी पर राजनीति तेज हो गई है. लाजपत नगर इलाके के दिल्ली जल बोर्ड के दफ्तर में रविवार को एमसीडी ने छापेमारी की है. अचानक एमसीडी की छापेमारी से जल बोर्ड दफ्तर के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया. एमसीडी की टीम ने घरों में पानी सप्लाई करने जा रहे जल बोर्ड के टैंकर से पानी का सैंपल लिया. इसके बाद वाटर ट्रॉली वाले प्लांट से भी एमसीडी ने सैंपल लिया. पानी की जांच की रिपोर्ट एक-दो दिन में आएगी.

पानी के सैंपल पर आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली के पानी को बदनाम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बदनाम करने के लिए एमसीडी के लोग नाले का पानी भी मिला सकते हैं, भाजपाई कुछ भी कर सकते हैं.

उधर इसी मामले में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल कहते हैं कि दिल्ली का पानी इतना खराब नहीं है. अरे भाई, अगर खराब नहीं है तो एक लीटर पी के दिखा दो, पता लग जाएगा खराब है या नहीं है.

बता दें, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा था कि उनकी पानी के मुद्दे को लेकर राजनीतिक करने में रुचि नहीं है और उनका उद्देश्य नागरिकों को साफ पानी मुहैया कराना है. उन्होंने पानी व सीवर कनेक्शन के लिए डेवलेपमेंट शुल्क व इंफ्रास्टक्चर शुल्क को माफ करने के दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के फैसले की घोषणा की. केजरीवाल ने कहा कि पहले लोग पानी या सीवर के नए कनेक्शन के लिए 200 मीटर प्लाट के लिए 1,14,110 रुपये व 300 मीटर प्लाट के लिए 1,24,110 रुपये का भुगतान कर रहे थे लेकिन अब उन्हें सिर्फ 2,310 रुपये का भुगतान करना होगा. केजरीवाल, दिल्ली जल बोर्ड के प्रमुख हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *