दिल्ली बड़ी खबर

बाबू जगजीवनराम अस्पताल के करीब 40 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमितः सत्येंद्र जैन

Coroanvirus बाबू जगजीवनराम स्मारक अस्पताल के करीब 40 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

नई दिल्ली, दिल्ली के जहांगीरपुरी स्थित बाबू जगजीवनराम स्मारक अस्पताल के करीब 40 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। यह कहना है दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का। जैन ने कहा कि जहांगीरपुरी इलाके में कोरोना के कई केस सामने आए हैं। मंत्री ने कहा कि इतना ज्यादा केस आने की वजह से अस्पताल को बंद कर दिया गया है। अस्पताल के कुछ और कर्मचारियों का सैंपल लिया गया है।

बता दें कि बाबू जगजीवनराम स्मारक अस्पताल के कर्मचारियों को कोरोना वायरस ने बुरी तरह अपनी चपेट में ले लिया है। यहां एक ही दिन में शनिवार को 15 स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। संक्रमितों में पांच डॉक्टर शामिल हैं। इसके कुछ दिन पहले भी अस्पताल के सात डॉक्टरों समेत 14 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।

इसके अलावा अस्पताल के कई और कर्मचारियों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। अंदेशा है कि यहां कोरोना के और मामले सामने आ सकते हैं। इतने मामले सामने आने के बाद अस्पताल को बंद कर सैनिटाइज किया गया।

बता कि जहांगीरपुरी में रोज नए मामले सामने आ रहे हैं। इससे प्रशासनिक अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि जहांगीरपुरी के अन्य इलाकों से कई कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पताल में उपचार के लिए आए थे। ऐसे में आशंका है कि यहां के स्वास्थ्यकर्मी उन्हीं के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं।

वहीं, पिछले 24 घंटे में नंदनगरी और सुंदरनगरी से कोरोना संक्रमण के तीन-तीन मामले सामने आए हैं। इनमें नंदनगरी में दो मामले दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान में कार्यरत नर्सिंग अर्दलियों के परिवार से हैं। अन्य मामलों में स्नोत का पता लगाया जा रहा है। जहां मामले सामने आए हैं उन ब्लॉकों को सील कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक नंदनगरी सी-2 ब्लॉक में दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान की दो नर्सिंग अर्दली रहती हैं। ये दोनों कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं। अब इनके परिवार के एक-एक सदस्य संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा सी-3 ब्लॉक में भी कोरोना संक्रमण का एक मामला सामने आया है। वहीं सुंदर नगरी के ओ, एच और एफ ब्लॉक में कुल तीन लोग संक्रमित पाए गए हैं। कुछ और सैंपल जांच को भेजे गए हैं। यहां संक्रमण अधिक फैल सकता है क्योंकि 22-22 गज के मकान में यहां 20 से ज्यादा लोग एक साथ रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *