सैन्य कार्रवाई से सियासी फायदा उठाने की कोशिश रोकी जाए, पूर्व नौसेना प्रमुख ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र

कुछ राजनीतिक दल जनता के बीच जिस प्रकार से अपने फायदे के लिए सैन्य कार्रवाई शहादत और व्यक्तियों का इस्तेमाल कर रहे हैं वह चिंता योग्य है।

नई दिल्ली, स्टार सवेरा । सुरक्षा बलों की कार्रवाई से मतदाताओं को प्रभावित करने की राजनीतिक दलों की कोशिश पर चुनाव आयोग से रोक लगाने की मांग की गई है। पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास ने इस मामले में चुनाव आयोग से अविलंब कदम उठाने का अनुरोध किया है।

पूर्व नौसेना प्रमुख ने कहा है कि पुलवामा में आतंकी हमले, उसके बाद बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई और विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के पाकिस्तानी एफ-16 विमान को गिराने पर जिस तरह की चर्चाएं चल रही हैं, वे गलत हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को लिखे पत्र में एडमिरल रामदास ने सैन्य कार्रवाइयों को राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल करने पर चिंता जताई है।

उन्होंने लिखा है कि कुछ ही हफ्तों के बाद देश में चुनाव होने हैं। ऐसे में यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोई भी राजनीतिक दल इन सैन्य कार्रवाइयों को मतदाताओं को प्रभावित करने में इस्तेमाल न कर पाए। दो पेज के पत्र में पूर्व नौसेना प्रमुख ने लिखा है कि अपनी संरचना, कार्य कुशलता और निष्पक्षता के चलते भारतीय सेनाएं हमेशा से अराजनीतिक और धर्मनिरपेक्ष रही हैं। इसके लिए उन्हें गर्व है। लेकिन एक जिम्मेदार नागरिक होने और भारतीय सेना का हिस्सा रहे होने के कारण मौजूदा हालात से उन्हें गहरी चिंता हो रही है।

कुछ राजनीतिक दल जनता के बीच जिस प्रकार से अपने फायदे के लिए सैन्य कार्रवाई, शहादत और व्यक्तियों का इस्तेमाल कर रहे हैं, वह चिंता योग्य है। मीडिया, जनसभाओं और जनता के बीच राजनीतिक दलों की चर्चा का असर दिखाई दे रहा है। यह सब अस्वीकार्य है। इससे सैन्य बलों के मूल्यों को नुकसान होगा। यह संविधान की भावना के खिलाफ है। आने वाले समय में इसके गंभीर दुष्परिणाम सामने आ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *