बड़ी खबर राजनीति

LIVE MP Government Floor Test News: थोड़ी देर में कमलनाथ की प्रेस कॉन्फ्रेंस, फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ के घर पहुंचे कांग्रेस MLA

MP Floor Test LIVE Updates क्या कमलनाथ विश्वास मत बचा पाएंगे या भाजपा मध्य प्रदेश को कांग्रेस से वापस ले लेगी। यह आज एमपी की सियासत का सबसे बड़ा सवाल बन गया है।

भोपाल, कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार का आज मध्य प्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होगा। इससे पहले दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री कमल नाथ सीएम हाऊस में ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान की याचिका पर दो दिन की लगातार सुनवाई के बाद आज शाम 5 बजे तक मध्य प्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराने का निर्देश दिया है।आज दोपहर 2 बजे विधानसभा बुलाई जाएगी। क्या कमलनाथ विश्वास मत बचा पाएंगे या भाजपा मध्य प्रदेश को कांग्रेस से वापस ले लेगी। इस पर आज पूरे देश की नजर बनी रहेगी।

दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक, मप्र विधानसभा के स्पीकर एनपी प्रजापति ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि मप्र के इतिहास में एक साथ इतनी विधायकों के इस्तीफे कभी नहीं हुए। उन्होंने कहा कि मैंने दुखी मन से सभी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए। अभी तक कुल 23 विधायकों के इस्तीफे स्वीकार किए जा चुके हैं। इसमें एक शहडोल विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक शरद कोल भी शामिल है।

मप्र विधानसभा अध्यक्ष ने समाचार एजेंसी एएनआइ को बताया कि मैंने कल रात 16 इस्तीफे स्वीकार किए थे। अब मैंने शरद कोल (भाजपा विधायक) का इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया है। उन्होंने पहले कहा था कि उन्हें जबरदस्ती इस्तीफा देने के लिए बनाया गया था, लेकिन उनके दस्तावेजों को देखने के बाद और वह मुझसे व्यक्तिगत रूप से नहीं मिले, ऐसा नहीं लगता था।

कांग्रेस विधायक आज मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के आवास पर विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से पहले पहुंचे हैं। अब से थोड़ी देर में विधानसभा में फ्लोर टेस्ट को लेकर कार्रवाई शुरू होगी।
दैनिक जागरण के सहयोगी अखबार नई दुनिया के मुताबिक, समाजवादी पार्टी और बसपा विधायक फ्लोर टेस्ट में हिस्सा नहीं लेंगे।

फ्लोर टेस्ट से पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस विधायक दल की बैठक सुबह 11 बजे से मुख्यमंत्री निवास पर होगी। उसके बाद दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री कमल नाथ सीएम हाऊस में ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।

कांग्रेस ने आज फ्लोर टेस्ट से पहले अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी किया है। सभी विधायकों को फ्लोर टेस्ट के दौरान सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है।

मध्य प्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच मध्य प्रदेश के मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि इस बार उन्होंने (भाजपा) ने हॉर्स ट्रेडिंग नहीं की, वे हाथी के व्यापार में लिप्त रहे। हम बहुमत साबित करेंगे। हमारे साथ ‘फॉर्मूला 5’ है। खुलासे दोपहर 12 बजे (एमपी सीएम की प्रेस कॉन्फ्रेंस में) किए जाएंगे। यह खुलासा किया जाएगा कि 16 विधायकों को बंदी कैसे बनाया गया।

उन्होंने साथ ही कहा कि यह खुलासा भी किया जाएगा कि कैसे पोहरी विधायक सुरेश धाकड़ की बेटी ने शिवपुरी में आत्महत्या की है। यह खुलासा किया जाएगा कि कैसे कुरवाई विधायक को उनके भतीजे की मृत्यु होने पर भी जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। यह सत्ता की भूख की पराकाष्ठा है।

मध्य प्रदेश में बहुमत परीक्षण से पहले कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। कांग्रेस के दिग्विजय सिंह से जब पूछा गया कि क्या मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ इस्तीफा दे रहे हैं तो इस पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं, इसके लिए प्रतीक्षा करें।
भोपाल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज सीएम कमलनाथ के आवास पर सुबह 11 बजे होगी।सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार आज मध्य प्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आयोजित किया जाएगा।

मध्य प्रदेश में लगभग दो सप्ताह से कमल नाथ सरकार के बहुमत को लेकर बनी असमंजस की स्थिति शुक्रवार को साफ हो जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कमल नाथ सरकार को शुक्रवार को विधानसभा में बहुमत साबित करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने यह भी कहा कि बहुमत परीक्षण का काम शुक्रवार शाम पांच बजे तक पूरा हो जाना चाहिए। अगर कांग्रेस के 16 बागी विधायकों में से कोई भी सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए जाना चाहेगा तो उसे पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी

कांग्रेस विधायकों की बगावत के मद्देनजर कमल नाथ सरकार के बहुमत परीक्षण में कामयाब होने की उम्मीद अब कम ही बची है। इस बीच देर रात विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने 16 बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए हैं।

सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस हेमंत गुप्ता की पीठ ने तत्काल बहुमत परीक्षण का आदेश मांगने वाली भाजपा विधायकों की याचिका पर दो दिन तक चली मैराथन बहस सुनने के बाद ये आदेश जारी किए। कोर्ट ने कहा है कि मध्य प्रदेश विधानसभा जो 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई थी, उसे 20 मार्च को आहूत किया जाएगा। इस बैठक का एकमात्र एजेंडा बहुमत परीक्षण होगा। इसमें यह तय होगा कि मुख्यमंत्री कमल नाथ को सदन का बहुमत प्राप्त है अथवा नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *