बड़ी खबर मुख्य समाचार राष्ट्रीय

सिंध नदी में डूबी कार, चालक ने साहस दिखा पूरे परिवार को बचाया

अमोला पुल पार करते ही एक गाय कार के सामने आ गई। उसे बचाने में सड़क के एक हिस्से में रखे पत्थरों पर कार के पहिये चढ़ने से फट गए। इससे गाड़ी अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी

शिवपुरी, मध्य प्रदेश के शिवपुरी-झांसी फोरलेन हाइवे पर अमोला पुल के पास रविवार रात पुणे से उत्तर प्रदेश के गोंडा जा रहा परिवार हादसे का शिकार हो गया। रात करीब 12:30 बजे उनकी कार सड़क पर रखे पत्थरों से टकराकर करीब 10 फीट गहरे सिंध नदी के पानी में जा समाई। कार में बैठे परिवार के मुखिया (चालक) ने साहस दिखाया और शीशा तोड़कर पत्नी, दो बेटों, एक बेटी और एक अन्य रिश्तेदार को सकुशल बाहर निकाला।

कार के सामने आई गाय

पुणे में किसी कंपनी में सेवारत शकील मोहम्मद उर्फ सदर खान ने बताया कि अमोला पुल पार करते ही एक गाय कार के सामने आ गई। उसे बचाने में सड़क के एक हिस्से में रखे पत्थरों पर कार के पहिये चढ़ने से फट गए । इससे गाड़ी अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी।

बकौल शकील उन्होंने साहस जुटाकर गाड़ी के कांच तोड़े तथा परिजनों को सुरक्षित निकाला। इसके बाद फोन से पुलिस को सूचना दी। इस बीच नजदीक रहने वाले परचून की दुकान संचालक राजू मिश्रा कुछ लोगों के साथ मौके पर पहुंचे और परिवार को न केवल ढांढस बंधाया बल्कि अपने घर लाए और उनको भोजन कराया।

गमी की खबर आई तो लिया रात में ही चलने का निर्णय

परिजनों की मानें तो पुणे से निकलने के बाद उनका कार्यक्रम तय था कि रात्रि विश्राम ब्यावरा में करेंगे और अगले दिन झांसी होते हुए गोंडा (उत्तर प्रदेश) पहुंच जाएंगे। लेकिन, इसी बीच फोन पर खबर आई कि उनकी चाची का इंतकाल हो गया है, इसलिए रात को ही चलने का निर्णय लिया ताकि सुबह तक गोंडा पहुंच जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *