मुख्य समाचार राष्ट्रीय

India-China Ladakh में थोड़ी देर में भारत-चीन के सैन्य कमांडरों के बीच बैठक, लद्दाख पर चर्चा

India-China Ladakh Talks सूत्रों के मुताबिक पहले यह बैठक सुबह लगभग 9 बजे शुरू होने वाली थी लेकिन अब यह सुबह 11 से 1130 बजे के बीच होगी।

नई दिल्ली,  India-China Ladakh Talks, पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC) के पास करीब एक महीने से जारी तनाव के बीच आज भारत और चीन के बीच अब से थोड़ी देर में एक अहम बैठक होने जा रही है। समाचार एजेंसी एएनआइ ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच बैठक अभी तक शुरू नहीं हुई है। पहले यह बैठक सुबह लगभग 9 बजे शुरू होने वाली थी, लेकिन अब यह सुबह 11 से 11:30 बजे के बीच होगी।

इससे पहले आर्मी के सूत्रों ने जानकारी दी थी कि भारत और चीन के अधिकारियों के बीच आज सुबह बड़ी बैठक होने जा रही है। पूर्वी लद्दाख में LAC के साथ चल रहे विवाद पर चर्चा करने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के चीनी क्षेत्र मोल्डो में आज भारत और चीन के सैन्य कमांडरों की बैठक होगी। इस बैठक में भारत और चीन के बीच लद्दाख में एक महीने से जारी गतिरोध को खत्म करने की कवायद की जाएगी।

यह बैठक लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की होगी। इस बैठक में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व 14वीं कॉर्प के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह(Lieutenant Gen Harinder Singh) करेंगे। वह चीनी सेना के अधिकारी मेजर जनरल लियू लिन के साथ बातचीत करेंगे। चीनी सेना की ओर से मेजर जनरल लियू लिन (Maj Gen Liu Lin) इस बैठक में भाग लेंगे। मेजर जनरल लियू लिन चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (People’s Liberation Army) के दक्षिण झिंजियांग सैन्य क्षेत्र के कमांडर हैं।

यह बैठक वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC) के पास लद्दाख के चुशूल के सामने चीनी क्षेत्र मोल्डो में आयोजित होगी। मोल्डो टकराव की जगह से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

भारत की ओर से इस बैठक में लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व करेंगे। लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह लेह स्थित 14वीं कॉर्प्स के कमांडर हैं जो चीनी अधिकारियों के साथ बातचीत में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व करेंगे।

फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स’ के उपनाम वाली 14वीं कॉर्प्स भारतीय सेना की उधमपुर स्थित उत्तरी कमान का हिस्सा है। यह कमान सबसे जोखिम भरी चुनौतियों का सामना करती है। लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह आतंकवाद रोधी विशेषज्ञ कमांडर मानें जाते हैं। उन्‍होंने पिछले साल अक्टूबर में 14वीं कॉर्प्स की कमान संभाली थी। उन्होंने भारतीय सेना में कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है।

पूर्वी लद्दाख में जारी गतिरोध को लेकर अभी तक दोनों सेनाओं के बीच 10 राउंड तक की बातचीत हो चुकी है। 2 जून को भी दोनों सेनाओं के अधिकारियों के बीच इस मसले पर बातचीत हुई थी लेकिन अभी तक किसी भी बातचीत का कोई खास नतीजा सामने नहीं आया है।

हालांकि, इस बीच उस क्षेत्र में दोनों सेनाएं कुछ दूर तक पीछे जरूर हटी हैं। अभी भी टकराव की नौबत खत्‍म नहीं हुई है। चीन ने तिब्बत में सैन्य अभ्यास कर अपनी सेना के पांच हजार जवानों को उत्‍तरी लद्दाख सेक्‍टर में तैनात कर दिया है। इसके जवाब में भारतीय सेना ने भी तैनाती बढ़ाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *