पढ़िए- रोड शो के दौरान CM केजरीवाल को थप्पड़ मारने वाले शख्स का नया ट्विस्ट

फिलहाल अरविंद केजरीवाल को थप्पड़ मारने के मामले में आरोपित सुरेश का दावा है कि वह किसी भी राजनीतिक दल से नहीं जुड़ा है और न ही किसी दल में शामिल हुआ है।

नई दिल्ली, स्टार सवेरा ।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मोती नगर इलाके में एक रोड शो के दौरान 4 मई को एक युवक ने हमला कर दिया था और गाड़ी पर सवार केजरीवाल को थप्पड़ जड़ दिया था। अब एक सप्ताह के भीतर इस मामले में नया मोड़ आ गया है। दिल्ली के सीएम को थप्पड़ मारने वाले सुरेश ने समाचार एजेंसी से बातचीत में अपने इस कृत्य के लिए माफी मांगी है। साथ ही कहा है- ‘मुझे नहीं पता कि मैंने अरविंद केजरीवाल को थप्पड़ क्यों मारा? मैं इसके लिए माफी चाहता हूं।’

फिलहाल इस मामले में आरोपित सुरेश का दावा है कि वह किसी भी राजनीतिक दल से नहीं जुड़ा है और न ही किसी दल में शामिल हुआ है। सुरेश का यह भी कहा है कि उसे किसी ने इस कृत्य को अंजाम देने के लिए नहीं कहा। उसके मुताबिक, पुलिस ने उसके साथ कोई बुरा बर्ताव नहीं किया। पुलिस ने उसे अहसास कराया कि तुमने गलत हरकत की है।

यहां पर बता दें कि 4 मई की शाम को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को थप्पड़ मारने का मामला सामने आया था। रैली के दौरान सुरेश नाम के शख्स ने केजरीवाल को थप्पड़ मार दिया था। दरअसल केजरीवाल 4 मई की शाम को मोती नगर में एक रोड शो कर रहे थे, तभी सुरेश ने उन्हें थप्पड़ मार दिया।

वहीं, इस घटना के लिए आम आदमी पार्टी ने भाजपा को जिम्मेदार ठहराया था। AAP प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि भाजपा के इशारे पर युवक ने मुख्यमंत्री को थप्पड़ मारा है।

दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसौदिया ने ट्वीट कर कहा था कि क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं? 5 साल सारी ताक़त लगाकर जिसका मनोबल नहीं तोड़ सके, चुनाव में नहीं हरा सके..अब उसे रास्ते से इस तरह हटाना चाहते हो कायरो! ये केजरीवाल ही तुम्हारा काल है।

उधर, दिल्ली के पूर्व मंत्री और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने इस घटना के लिए खुद केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने ट्विटर कर कहा था कि रोड शो फ्लॉप, जनता गायब और नौटकी शुरू हो गई है।

पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमले का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी कई बार उन पर इस तरह के हमले हो चुके हैं। गत साल नवंबर में केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में मिर्च पाउडर से हमला किया गया था। अप्रैल, 2016 में दिल्ली सचिवालय में ही पत्रकार वार्ता के दौरान उन पर जूता फेंका गया था। जूता फेंकने वाला आम आदमी सेना का कार्यकर्ता वेदप्रकाश शर्मा था। जूते के अलावा केजरीवाल की ओर सीडी भी उछाली गई।

मिर्च पाउडर से हमला
इससे पहले गत साल नवंबर में केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में मिर्च पाउडर से हमला किया गया था। दिल्ली सचिवालय में चैंबर से बाहर निकलने के दौरान केजरीवाल के ऊपर अनिल शर्मा नाम के शख्स ने अचानक मिर्च पाउडर फेंक दिया था। अनिल ने सीएम केजरीवाल को किसी समस्या को लेकर एक पत्र देने आया था। इस दौरान सीएम रुके तो वह उनके पैरों पर गिर गया। इस पर सीएम ने रोकने की कोशिश की तो इसमें उसका चश्मा गिर गया और टूट गया। फिर अनिल ने केजरीवाल के ऊपर मिर्च पाउडर फेंक दिया था। हमले से पहले आरोपित अनिल शर्मा ने केजरीवाल के साथ धक्का-मुक्की भी की थी।

लुधियाना में गाड़ी पर हमला
फरवरी, 2016 में ही पंजाब के लुधियाना में अरविंद केजरीवाल की कार पर कुछ लोगों ने लोहे की रॉड और डंडों से हमला किया था, जिससे कार का सामने वाला शीशा टूट गया था।

महिला ने फेंकी थी स्याही
जनवरी, 2016 में दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में ऑड ईवन फॉर्मूले के 15 दिवसीय ट्रायल की सफलता का जश्न मना रहे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर स्याही फेंकने का मामला सामने आया था। मुख्यमंत्री जब मंच से सभा को संबोधि‍त कर रहे थे, तभी एक महिला ने नाराजगी जाहिर करते हुए उन पर स्याही फेंकी थी।

लड़के ने पत्थर मारा
इससे पहले 27 दिसंबर 2014 को दिल्ली में रैली के दौरान एक लड़के ने केजरीवाल को पत्थर मारा था, यह अलग बात है कि उन्हें कोई चोट नहीं आई थी। फिर 26 दिसंबर 2014 को दिल्ली में रैली के दौरान उन पर अंडे फेंके गए थे। इससे भी पहले 2014 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली में रोड शो के दौरान केजरीवाल को एक ऑटो ड्राइवर ने थप्पड़ मारा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *