दिल्ली-NCR में झमाझम बारिश, कई जगह छा गया अंधेरा; तेज आंधी के बीच गिरे ओले

बुधवार से एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की भी संभावना है। इसके चलते 17 मई तक मौसम का मिजाज ऐसे ही बना रहेगा। बारिश के साथ धूल भरी आंधी चलने का पूर्वानुमान जताया गया है।

नई दिल्ली, स्टार सवेरा ।

पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) के सक्रिय होने का असर पूरे उत्तर भारत के साथ दिल्ली-एनसीआर पर भी पड़ने लगा है। बुधवार सुबह इसका नमूना भी दिखाई दिया। दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों गुरुग्राम, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, पलवल, सोनीपत, रेवाड़ी (हरियाणा) के साथ नोएडा, ग्रेटर नोएडा, हापुड़, गाजियाबाद और लोनी में बादल छाए हुए हैं और झमाझम बारिश हुई है। घने बादलों के साथ हो रही बारिश के चलते कई इलाकों में घना अंधेरा छाया रहा।

कई इलाकों में बारिश के साथ तेज हवा भी चली और काले बादलों की वजह से अंधेरा छाया रहा। राजधानी दिल्ली के सांस्कृतिक स्थलों में से एक दिल्ली के मंडी हाउस और शास्त्री भवन के आसपास बहुत तेज बारिश हुई। तेज बारिश के चलते कई इलाकों में सड़कों पर जलभराव की खबरें भी मिली हैं। वहीं, सुबह के दौरान बारिश से दफ्तर के लिए निकले लोगों को परेशानी हुई।

वहीं, दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में तेज आंधी के साथ ओले गिर रहे हैं, जिससे खासकर पैदल चलने वालों के साथ दोपहिया और चार पहिया वाहन चालकों को भी दिक्कत पेश आ रही है।

यहां पर बता दें कि भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) ने पहले ही बता दिया था कि बुधवार से एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की भी संभावना है। इसके चलते 17 मई तक मौसम का मिजाज ऐसे ही बना रहेगा। हल्की बारिश के साथ धूल भरी आंधी चलने का पूर्वानुमान जताया गया है। नोएडा सहित पूरे एनसीआर में इस तरह की बारिश अगले एक हफ्ते देखने को मिल सकती है।

हल्की बारिश ने प्रदूषण और धूल से दिलाई राहत
नोएडा में बुधवार सुबह से हल्की बारिश के साथ कई इलाकों में बूंदाबांदी हो रही है। बारिश के चलते न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भी फेरबदल हुआ है। बारिश से धूल और प्रदूषण से भी हल्की राहत मिली है।

मौसम पूर्वानुमान के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में हल्की बारिश हो रही है। बारिश का सिलसिला पूरे हफ्ते चिलेगा। जिससे लोगों को चिपचिपाती गर्मी से हल्की राहत मिल सकती है।
स्काई मेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने बताया कि राजस्थान के पास बने पश्चिमी विक्षोभ के चलते दिल्ली एनसीआर में में बारिश हो रही है। नोएडा सहित पूरे एनसीआर में इस तरह की बारिश अगले एक हफ्ते देखने को मिल सकती है। हल्की बारिश से लोगों को प्रदूषण और धूल से भी राहत मिली है। बारिश के चलते प्रदूषण और धूल पूरी तरह से धुल गई है। बारिश के कारण अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 25 डिग्री पहुँच गया है।

सुबह 7 बजे से हो रही बारिश
नोएडा समेत पूरे एनसीआर में बुधवार सुबह से ही आसमान में काले बादल छाए हुए हैं। कई इलाकों में तो अब भी काले बादल छाए हैं। जिसके बाद सुबह सात बजे से कई इलाकों में बिजली कड़ने के बाद बारिश शुरू हो गई है। नोएडा के सेक्टर 22 इलाके में बूंदाबांदी हो रही है।
बारिश से प्रदूषण घटा, उमस बढ़ी

इससे पहले दिल्ली-एनसीआर के विभिन्न इलाकों में सोमवार की रात हुई झमाझम बारिश ने प्रदूषण तो घटाया, लेकिन उमस बढ़ा दी। खासतौर पर मंगलवार सुबह खासी उमस महसूस की गई। हालांकि, दिन में गर्मी के तेवर ढीले ही रहे। अभी दो-तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा। अधिकतम तापमान भी 40 डिग्री सेल्सियस के नीचे रहने के आसार हैं।

दिल्ली-NCR में झमाझम बारिश, कई जगह छा गया अंधेरा; तेज आंधी के बीच गिरे ओले
बुधवार से एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की भी संभावना है। इसके चलते 17 मई तक मौसम का मिजाज ऐसे ही बना रहेगा। बारिश के साथ धूल भरी आंधी चलने का पूर्वानुमान जताया गया है।

नई दिल्ली, जेएनएन। Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) के सक्रिय होने का असर पूरे उत्तर भारत के साथ दिल्ली-एनसीआर पर भी पड़ने लगा है। बुधवार सुबह इसका नमूना भी दिखाई दिया। दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों गुरुग्राम, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, पलवल, सोनीपत, रेवाड़ी (हरियाणा) के साथ नोएडा, ग्रेटर नोएडा, हापुड़, गाजियाबाद और लोनी में बादल छाए हुए हैं और झमाझम बारिश हुई है। घने बादलों के साथ हो रही बारिश के चलते कई इलाकों में घना अंधेरा छाया रहा।

कई इलाकों में बारिश के साथ तेज हवा भी चली और काले बादलों की वजह से अंधेरा छाया रहा। राजधानी दिल्ली के सांस्कृतिक स्थलों में से एक दिल्ली के मंडी हाउस और शास्त्री भवन के आसपास बहुत तेज बारिश हुई। तेज बारिश के चलते कई इलाकों में सड़कों पर जलभराव की खबरें भी मिली हैं। वहीं, सुबह के दौरान बारिश से दफ्तर के लिए निकले लोगों को परेशानी हुई।

वहीं, दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में तेज आंधी के साथ ओले गिर रहे हैं, जिससे खासकर पैदल चलने वालों के साथ दोपहिया और चार पहिया वाहन चालकों को भी दिक्कत पेश आ रही है।

यहां पर बता दें कि भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) ने पहले ही बता दिया था कि बुधवार से एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की भी संभावना है। इसके चलते 17 मई तक मौसम का मिजाज ऐसे ही बना रहेगा। हल्की बारिश के साथ धूल भरी आंधी चलने का पूर्वानुमान जताया गया है। नोएडा सहित पूरे एनसीआर में इस तरह की बारिश अगले एक हफ्ते देखने को मिल सकती है।

हल्की बारिश ने प्रदूषण और धूल से दिलाई राहत
नोएडा में बुधवार सुबह से हल्की बारिश के साथ कई इलाकों में बूंदाबांदी हो रही है। बारिश के चलते न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भी फेरबदल हुआ है। बारिश से धूल और प्रदूषण से भी हल्की राहत मिली है।

मौसम पूर्वानुमान के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में हल्की बारिश हो रही है। बारिश का सिलसिला पूरे हफ्ते चिलेगा। जिससे लोगों को चिपचिपाती गर्मी से हल्की राहत मिल सकती है।

स्काई मेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने बताया कि राजस्थान के पास बने पश्चिमी विक्षोभ के चलते दिल्ली एनसीआर में में बारिश हो रही है। नोएडा सहित पूरे एनसीआर में इस तरह की बारिश अगले एक हफ्ते देखने को मिल सकती है। हल्की बारिश से लोगों को प्रदूषण और धूल से भी राहत मिली है। बारिश के चलते प्रदूषण और धूल पूरी तरह से धुल गई है। बारिश के कारण अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 25 डिग्री पहुँच गया है।

सुबह 7 बजे से हो रही बारिश
नोएडा समेत पूरे एनसीआर में बुधवार सुबह से ही आसमान में काले बादल छाए हुए हैं। कई इलाकों में तो अब भी काले बादल छाए हैं। जिसके बाद सुबह सात बजे से कई इलाकों में बिजली कड़ने के बाद बारिश शुरू हो गई है। नोएडा के सेक्टर 22 इलाके में बूंदाबांदी हो रही है।

बारिश से प्रदूषण घटा, उमस बढ़ी

इससे पहले दिल्ली-एनसीआर के विभिन्न इलाकों में सोमवार की रात हुई झमाझम बारिश ने प्रदूषण तो घटाया, लेकिन उमस बढ़ा दी। खासतौर पर मंगलवार सुबह खासी उमस महसूस की गई। हालांकि, दिन में गर्मी के तेवर ढीले ही रहे। अभी दो-तीन दिन तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा। अधिकतम तापमान भी 40 डिग्री सेल्सियस के नीचे रहने के आसार हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार की रात 3.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इससे आसमान में जमा धूल काफी हद तक साफ हो गई और तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स जो कि बहुत खराब श्रेणी में (322) पर पहुंच गया था। वह मंगलवार को घटकर सामान्य स्तर के 153 पर आ गया। मंगलवार को न्यूनतम तापमान जहां सामान्य से पांच डिग्री कम 20.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस रहा, जोकि सामान्य से चार डिग्री कम है। नमी का स्तर 46 से 85 फीसद तक रिकार्ड किया गया।

उधर मंगलवार को दिन भर आंशिक रूप से बादल छाए रहे। हालांकि, दिन चढ़ने के साथ ही धूप भी तेज होती गई। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले तीन दिनों तक हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। इसके चलते तापमान में ज्यादा वृद्धि नहीं होगी और लोगों को गर्मी से राहत मिलती रहेगी। बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार सोमवार की रात दिल्ली-एनसीआर के साथ-साथ उत्तर भारत के अनेक हिस्सों में बारिश हुई है। इससे धूल काफी हद तक बैठ गई है। पहले कुछ हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना थी, लेकिन फिर कई क्षेत्रों में बारिश से मौसम में बदलाव हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *