मुख्य समाचार

बीच रास्ते में PAK ने रोकी समझौता एक्सप्रेस, यात्रियों को लाने इंजन-गार्ड भेज रहा भारत

अब पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में अड़ंगा लगाया है. उसका कहना है कि वह अपना ड्राइवर नहीं भेजेगा. इसका असर भारत आने और यहां से जाने वाले लोगों पर पड़ रहा है. अब भारत ने इस समस्या को हल करने के लिए ट्रेन और इंजन भेजने का फैसला किया है.

जम्मू-कश्मीर पर भारत ने जो फैसला लिया है उससे पाकिस्तान को तगड़ा झटका लगा है. यही कारण है कि वह पिछले 24 घंटे में लगातार अपनी बौखलाहट दिखा रहा है. अब पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में अड़ंगा लगाया है. पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस बीच में रोक दी है और कहा है कि वह अपना ड्राइवर नहीं भेजेगा. इसका असर भारत आने और यहां से जाने वाले लोगों पर पड़ रहा है. अब भारत ने इस समस्या को हल करने के लिए ट्रेन और इंजन भेजने का फैसला किया है.

गुरुवार दोपहर नॉर्थ रेलवे के CPRO दीपक कुमार की तरफ से बयान जारी किया गया है. उनका कहना है कि समझौता एक्सप्रेस को सस्पेंड नहीं किया गया है, ट्रेन जारी रहेगी. पाकिस्तान ने सुरक्षा की वजह से कुछ चिंताएं जाहिर की हैं और कहा है कि वह अपना गार्ड और क्रू नहीं भेजेगा.

नॉर्थ रेलवे के CPRO के मुताबिक, भारत ने पाकिस्तान को बताया है कि इस ओर हालात पूरी तरह से सामान्य हैं. इसलिए भारत की तरफ से अपना इंजन और गार्ड वाघा बॉर्डर तक भेज रहे हैं जो वहां से अटारी तक ट्रेन लाएगा.

रेलवे के अनुसार, कुल 110 यात्रियों को पाकिस्तान से भारत आना है और 70 लोगों को यहां से उस तरफ जाना है. ऐसे में भारत इसके लिए तुरंत कदम उठा रहा है. पाकिस्तान ने बीच में ही ट्रेन रोकने का फैसला किया. अभी ये सभी यात्री इस ट्रेन में ही सवार हैं.

आपको बता दें कि गुरुवार दोपहर को खबर आई कि पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस रोक दी है. लेकिन बाद में सफाई आई कि पाकिस्तान ट्रेन नहीं रोकेगा, बल्कि अपने गार्ड और क्रू को नहीं भेजेगा. उसने अपने स्टाफ की सुरक्षा पर सवाल खड़े किए हैं. अब भारत सरकार ने फैसला किया है कि जिन भारतीय क्रू के पास वीजा है उन्हें उस पार भेजा जाएगा.

आपको बता दें कि पाकिस्तान सुरक्षा की चिंता का हवाला देकर बहाना बना रहा है. दरअसल, अनुच्छेद 370 को लेकर वह अपनी बौखलाहट दिखा रहा है. पाकिस्तान को उम्मीद नहीं थी कि भारत जम्मू-कश्मीर को लेकर इस तरह का फैसला ले लेगा. बीते दो दिनों से पाकिस्तानी संसद में इस मसले पर बवाल चल रहा है, वह इस मसले को लेकर संयुक्त राष्ट्र भी पहुंचा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *