बड़ी खबर मुख्य समाचार

पाकिस्तान के आक्रामक रुख के बाद LoC पर सेना की तैनाती तेज; भारत ने चौकियों पर बढ़ाई सुरक्षा

भारतीय सेना ने पाकिस्तान की ओर से आ रही युद्ध की धमकियों को देखते हुए नियंत्रण रेखा(एलओसी) पर सैनिकों की तैनाती में तेजी ला दी है।

नई दिल्ली, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी सरकार की ओर से लगातार भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने की धमकियां दी जा रही हैं। पाकिस्तान की ओर से युद्ध के इन्हीं प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष खतरों और पाकिस्तान के आक्रामक रुख को देखते हुए भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास अपनी तैनाती में और तेजी ला दी है।

शनिवार को सेना के उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने एलओसी पर पाकिस्तान से संभावित हमले के मद्देनजर सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की।इससे पहले, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी नियंत्रण रेखा पर भारत की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए घाटी का दौरा किया था।

पाकिस्तानी सेना कर रही साजिश
सितंबर के पहले हफ्ते में पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से 30 किलोमीटर दूर एलओसी के पास अपने इलाके में एक ब्रिगेड के आकार की सेना को स्थानांतरित कर दिया था, सेना ने खुफिया सूत्रों के हवाले से ये बताया था।पाकिस्तान में पीओके के सामने बाग और कोटली सेक्टर में लगभग 2,000 सैनिकों की संख्या वाले सैनिकों को रखा गया है। पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन को भी बढ़ाया है।

इमरान खान की एटमी वॉर पर गीदड़भभकी
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने शनिवार को अल जजीरा चैनल को दिए एक इंटरव्यू में भारत के साथ संभावित परमाणु युद्ध के बयान पर कहा कि, पाकिस्तान कभी भी युद्ध शुरू नहीं करेगा और मैं स्पष्ट कर रहा हूं: मैं शांतिवादी हूं, मैं युद्ध विरोधी हूं, मेरा मानना ​​है कि युद्ध किसी भी समस्या का समाधान नहीं करते हैं, (लेकिन) जब दो परमाणु-संपन्न देश लड़ते हैं, अगर वे लड़ाई करते हैं पारंपरिक युद्ध, परमाणु युद्ध में बदलने की संभावना है।

पहले भी दे चुके हैं युद्ध की धमकी
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ आक्रामक रहे हैं। पाकिस्तानी पीएम इमरान ने पिछले दिनों पीओके के मुजफ्फराबाद में जलसा किया और वहां भारत के खिलाफ युद्ध की धमकी दी है। पाकिस्तान कश्मीर पर अपनी बयानबाजी में भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समर्थन हासिल करने की पूरी कोशिश कर रहा है लेकिन हर तरफ से उसे मुंह की खानी पड़ रही है।

जम्मू और कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के एक दिन बाद इमरान खान ने पाकिस्तानी संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए भारत के साथ संभावित युद्ध की बात कही थी। इमरान खान ने कहा, ‘भारत ने ऐसा करके पुलवामा जैसे और हमलों को न्योता दिया है। मुझे लगता है ऐसा होगा। इसके बाद इमरान ने कहा कि वे हमें फिर से मार सकते हैं तो हम इसपर हमला जरूर करेंगे और फिर क्या होगा ? कौन जीतेगा युद्ध ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *