लाइफस्टाइल

Body Fat चेक करने का सबसे सही तरीका है स्ट्रिंग मेथड

डॉक्टरों के साथ-साथ ज्यादातर लोग शरीर में एक्सट्रा फैट को मापने के लिए बॉडी मास इंडेक्स BMI का सहारा लेते हैं। हालांकि धागे का एक टुकड़ा एक्सट्रा फैट के बारे में बीएमआई से बेहतर तरीके से बता सकता है। एक नई स्टडी में यह दावा किया गया है।

डॉक्टरों के साथ-साथ ज्यादातर लोग शरीर में एक्सट्रा फैट को मापने के लिए बॉडी मास इंडेक्स BMI का सहारा लेते हैं। हालांकि धागे का एक टुकड़ा एक्सट्रा फैट के बारे में बीएमआई से बेहतर तरीके से बता सकता है। एक नई स्टडी में यह दावा किया गया है। इस नए तरीके को स्ट्रिंग मेथड कहा जा रहा है। यह तरीका कैसे काम करता है? स्ट्रिंग मेथड का प्रयोग करने का सही तरीका यहां जानें।

पहले धागे से आप अपनी ऊंचाई को मापें। फिर इस आधे को मोड़ लें और फिर अपनी कमर को चारों तरफ लपेटें। अगर यह आराम से आपकी कमर के चारों तरफ लिपट जाता है, तब आपके शरीर में ऐक्सट्रा फैट नहीं है। आदर्श रूप से किसी व्यक्ति की कमर का माप उसकी ऊंचाई की माप से आधी होनी चाहिए।

एक तिहाई लोगों का बीएमआई सामान्य
शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन में 16 साल से अधिक उम्र के 2 हजार 917 लोगों का विश्लेषण किया है। जिसके बाद उन्होंने पाया कि एक तिहाई से ज्यादा लोग, जिनका बीएमआई सामान्य था, उनके शरीर का फैट स्ट्रिंग मेथड से मेल नहीं खाया। बता दें कि जिनका बॉडी मास इंडेक्स 30 से अधिक होता है, उन्हें डायबीटीज या हाई बीपी का खतरा रहता है।

30 से अधिक बीएमआई ओवरवेट, 18 से कम अंडरवेट
18.5 से 24.9 के बीच के BMI को नॉर्मल माना जाता है, 25 से 29.9 के बीच के बीएमआई को ओवरवेट, 30 से अधिक के बीएमआई को मोटापे की कैटिगरी में रखा जाता है जबकि 18.5 से कम के बीएमआई को अंडरवेट माना जाता है। हालांकि स्टडी के ऑथर की मानें तो चूंकि बीएमआई में इस बात को शामिल नहीं किया जाता कि मसल वेट फैट से अधिक होता है इसलिए इसका प्रिडिक्शन सटीक नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *