बड़ी खबर व्यापार

अक्टूबर-नवंबर में चीनी उत्पादन 54 फीसद हुआ कम, घट कर 18.85 लाख टन पर आया

इस साल 30 नवंबर को केवल 279 चीनी मिलें चल रही थीं जबकि एक साल पहले 418 फैक्ट्रियों में गन्ने की पेराई हो रही थी।

नई दिल्ली, देश में चीनी का उत्पादन अक्टूबर-नवंबर में घटकर 8.85 लाख टन रहा है। महाराष्ट्र में उत्पादन में भारी गिरावट के कारण गन्ने की पेराई देर से शुरू हुई। बता दें कि चीनी का मौसम या माार्के टिंग का समय अक्टूबर से सितंबर तक चलता है। इसमें पिछले साल के मुकाबले 54 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है।

इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (ISMA) ने एक बयान में कहा कि मौजूदा 2019-20 चीनी सत्र में 30 नवंबर, 2019 तक चीनी का उत्पादन 18.85 लाख टन है, जो पिछले साल 30 नवंबर 2018 को 40.69 लाख टन था। एसोसिएशन ने कहा कि इस साल 30 नवंबर को केवल 279 चीनी मिलें चल रही थीं, जबकि एक साल पहले 418 फैक्ट्रियों में गन्ने की पेराई हो रही थी।

पिछले महीने, ISMA ने कहा कि 2019-20 के मार्केटिंग वर्ष में चीनी का उत्पादन 21.5 फीसद घटकर 26 मिलियन टन होने का अनुमान है। ISMA के मुताबिक, 1 अक्टूबर को 14.58 मिलियन टन चीनी के शुरुआती स्टॉक की जानकारी मिली।

मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, 2019-20 के मार्केटिंग इयर में अक्टूबर-नवंबर अवधि के दौरान उत्तर प्रदेश में चीनी उत्पादन बढ़कर 10.81 लाख टन हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में 9.14 लाख टन था।

महाराष्ट्र में उत्पादन में 67,000 टन की गिरावट आई, जो पिछले वर्ष के दो महीनों में 18.89 लाख टन था। राज्य में चीनी मिलों का संचालन 22 नवंबर, 2019 की देर रात से शुरू हुआ। कर्नाटक में भी उत्पादन में गिरावट दर्ज की गई और यह 8.40 लाख टन से घटकर 5.21 लाख टन हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *