UPSC Civil Services Result 2018: कनिष्क कटारिया ने किया टॉप, सृष्टि देशमुख महिलाओं में अव्वल, देखें लिस्ट

UPSC Civil Services Result 2018 संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा 2018 का परिणाम घोषित कर दिया है।

नई दिल्ली, स्टार सवेरा ।

UPSC Civil Services Result 2018: संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा की फाइनल परीक्षा का परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिया। इसमें बांबे आइआइटी से बी. टेक कनिष्क कटारिया ने टॉप किया है जबकि सृष्टि जयंत देशमुख महिलाओं में अव्वल आई हैं। वैसे ओवर ऑल में उनकी पांचवीं रैंक है।

 यूपीएससी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि आयोग ने आइएएस, आइपीएस, आइएफएस जैसी सेवाओं में नियुक्ति के लिए कुल 759 (577 पुरुष तथा 182 महिला) उम्मीदवारों के नामों की सिफारिश की है। अनुसूचित जाति से आने वाले कटारिया ने कंप्यूटर साइंस में बी. टेक किया है। उन्होंने वैकल्पिक विषय के रूप में गणित लिया था। महिलाओं में शीर्ष आने वाली देशमुख, राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल से केमिकल इंजीनियरिंग में बी. ई हैं।सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा तीन जून 2018 को आयोजित की गई थी।
परीक्षा परिणाम के बाद परिवार के साथ सृष्टि जयंत देशमुख

सृष्टि ने कहा- यह उनका बचपन का सपना था
यूपीएससी फाइनल परीक्षा में महिलाओं में भोपाल की सृष्टि जयंत देशमुख ने टॉप किया है। अव्‍वल आने के बाद सृष्टि जयंत देशमुख ने कहा कि यह उनका बचपन का सपना था। सृष्टि जयंत देशमुख ने अपने पहले ही प्रयास में यह कामयाबी हासिल की है। उन्‍होंने भोपाल के कॉलेज से केमिकल इंजीनियरिंग में बीई की उपाधि हासिल की है। अव्‍वल आने की सूचना के बाद सृष्टि जयंत देशमुख ने अपने परिजनों के साथ जश्‍न मनाया।

इस परीक्षा के लिए कुल 10,65,552 उम्मीदवारों ने आवेदन सौंपा था। इनमें से कुल 4,93,972 ही परीक्षा में शामिल हुए। लिखित (मुख्य) परीक्षा के लिए कुल 10,468 उम्मीदवार सफल हुए थे। यह परीक्षा सितंबर-अक्टूबर 2018 में ली गई थी। व्यक्तित्व जांच के लिए कुल 1994 उम्मीदवार चुने गए थे।
फरवरी-मार्च 2019 में व्यक्तित्व जांच आयोजित की गई। शीर्ष 25 उम्मीदवारों में 15 पुरुष और 10 महिलाएं हैं। जिन उम्मीदवारों की अनुसंशा की गई है उनमें 36 दिव्यांग हैं। दूसरे स्थान पर आने वाले अक्षत जैन आइआइटी गुवाहाटी से इंजीनियरिंग में स्नातक हैं। जयपुर निवासी अक्षत के पिता आइपीएस अधिकारी हैं जबकि मां भारतीय राजस्व सेवा की अधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि मैं अपने गृह प्रदेश राजस्थान में सेवा देना चाहूंगा।

759 का परिणाम घोषित
बता दें कि संघ लोक सेवा आयोग की ओर से यह परीक्षा नौकरशाही के उच्च पदों के लिए आयोजित की जाती है। संघ लोक सेवा आयोग की ओर से सितंबर-अक्टूबर 2018 में लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी। उसके परिणाम के बाद फरवरी-मार्च 2019 में इंटरव्यू हुआ। जिसके बाद आज अंतिम परिणाम जारी कर दिए गए हैं।

संघ लोक सेवा आयोग की ओर से इस बार कुल 759 उम्मीदवारों ((577 पुरुष और 182 महिलाएं) के परिणाम घोषित किए गए हैं। इसमें सामान्य श्रेणी के 361, अन्य पिछड़े वर्गों से 209, अनुसूचित जाति के 128, अनुसूचित जनजाति के 61 उम्मीदवार शामिल हैं। इन उम्मीदवारों में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) के अलावा केंद्रीय सेवाओं की प्रथम और द्वितीय श्रेणी के उम्मीदवार शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *