मोटापा ही नहीं दिमाग पर भी डालती है असर, एसी की ठंडी हवा, जानें कैसे

अगर आप अपने बढ़ते मोटापे से परेशान हैं या फिर जोड़ों के दर्द ने बेहाल कर रखा है तो जरा ध्यान दें कहीं इसकी वजह आपका एसी तो नहीं. जी हां रोजाना 8 से 9 घंटे तक एयर कंडीशनर की

नई दिल्ली, स्टार सवेरा ।

आर्टिफिशियल हवा में वक्त गुजारने वाले लोगों में सेहत से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं देखी जाती हैं. आइे जानते हैं आखिर कौन सी हैं वो दिक्कतें जो ज्यादा देर एसी में वक्त गुजराने से होती हैं.
एयर कंडीशनर में ज्यादा देर वक्त गुजारने से मोटापा बढ़ता है. दरअसल ठंडी जगह पर हमारे शरीर की ऊर्जा खर्च नहीं होती है, जिससे शरीर की चर्बी बढ़ती है.

एसी कमरे का टेम्परेचर कम कर देता है. ऐसे में व्यक्ति के शरीर को अपना तापमान बनाए रखने के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है. जिसकी वजह से व्यक्ति को जल्दी थकान महसूस होती है

घंटों एसी में बैठे रहने की वजह से व्यक्ति के शरीर में ब्लड सर्कुलेशन गड़बड़ हो जाता है. जिसकी वजह से उसे अपनी मसल्स में खिंचाव महसूस होने लगता है और उसे सिरदर्द की समस्या होने लगती है.

एसी की ठंडी हवा में ज्यादा देर बैठने से ब्रेन सेल्स सिकुड़ने लगते हैं. जिसका सीधा असर दिमाग पर पड़ता है. इसकी वजह से मस्तिष्क की क्षमता और क्रियाशीलता प्रभावित होती है और व्यक्ति को चक्कर आने लगते हैं.

तापमान में अचानक परिवर्तन होने की वजह से सांस संबंधी कई रोगों के लक्षण दिख सकते है. एसी में लगातार बैठे रहने की वजह से व्यक्ति के म्यूकस ग्लैंड हार्ड हो जाते हैं. शोधकर्ताओं की मानें तो जो लोग रोजाना 4 घंटे से अधिक समस के लिए एसी में बैठे रहते हैं, उन्हें साइनस का खतरा बना रहता है. a

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *