मध्यप्रदेश: पैंगोलिन के चमड़े की तस्करी मामले में दो गिरफ्तार, 2019 से थे फरार

मध्यप्रदेश ( Madhya Pradesh) में विलुप्तप्राय (endangered) जानवर पैंगोलिन (pangolin) के मारने और इसके चमड़े की तस्करी का मामला सामने आया है। राज्य में टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। यह जानकारी एक अधिकारी ने बुधवार को दी। आरोपी की पहचान मांडला (Mandla district) निवासी दानिश रजा (Danish Raza) और अनुपपुर जिला (Anuppur district) निवासी इरफान (Irfan) के तौर पर हुई । ये दोनों ही 2019 से फरार हैं। मंगलवार को इन्हें गिरफ्तार किया गया।

वन्यजीव संरक्षण के प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर आलोक कुमार द्वारा जारी किए गए प्रेस रिलीज में यह जानकारी दी गई। राज्य वनविभाग के टाइगर स्ट्राइक फोर्स ने 29 अगस्त 2019 को जबलपुर रेलवे स्टेशन पर एक एसयूवी से 8.5 किलो पैंगोलिन चमड़े को जब्त किया था जो गैरकानूनी तौर पर व्यापार के लिए ले जाया जा रहा था। तब से ये आरोपी फरार थे। वन विभाग इनकी तलाश में था।

चीन में पैंगोलिन से पारंपरिक दवाएं बनाई जाती हैं साथ ही इसका मांस काफी ऊंचे दामों पर मिलता है, जो ताकत देने वाला माना जाता है। इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) नेने कहा है कि दुनियाभर के वन्‍य जीवों की अवैध तस्‍करी में 20 फीसद पैंगोलिन की तस्करी शामिल है। स्तनधारी वर्ग में आने वाला पैंगोलिन दिखने में जीव सांप और छिपकली की तरह है। दुनियाभर के देशों में दशकों से इसकी तस्करी हो रही है।