केंद्रीय कैबिनेट का किसानों के हित में बड़ा फैसला, खरीफ सीजन के पहले ही MSP घोषित, अब 4G पर दौड़ेगी रेलवे

केंद्र सरकार ने किसानों के हित में बड़ा फैसला लेते हुए बुधवार को खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का एलान कर दिया। खरीफ की प्रमुख फसल धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 72 रुपये बढ़ाकर 1940 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। दलहन फसलों की खेती को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार ने इसकी एमएसपी में भारी वृद्धि की है। आयात निर्भरता घटाने के लिए सरकार ने अरहर और उड़द का समर्थन मूल्य 300 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ाने का एलान किया।

वर्ष 2021-22 के लिए एमएसपी

तिल की एमएसपी 452 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाई गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक में चालू फसल वर्ष 2021-22 के खरीफ सीजन वाली फसलों के लिए एमएसपी के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

एमएसपी में विशेष प्रोत्साहन

मानसून सीजन शुरू हो चुका है, बारिश चालू होने के साथ ही खरीफ सीजन की प्रमुख फसल धान की खेती जोर पकड़ने लगती है। मौसम विभाग ने इस बार दक्षिण-पश्चिम मानसून की अच्छी बारिश की भविष्यवाणी की है। खरीफ सीजन की दलहन व तिलहन फसलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए एमएसपी में विशेष प्रोत्साहन दिया गया है।

जारी रहेगी एमएसपी

सरकार की पूरी कोशिश दाल और खाद्य तेलों के मामले में आयात निर्भरता हर हाल में घटाने की है। कैबिनेट के फैसले की जानकारी देने आए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने प्रमुख फसलों के समर्थन मूल्य में की गई वृद्धि का ब्योरा दिया। उन्होंने विपक्षी दलों और कृषि कानून विरोधी आंदोलन करने वालों को जवाब देने के अंदाज में कहा कि एमएसपी पहले भी थी, अब भी है और आगे भी जारी रहेगी। किसानों के हित में इसमें लगातार बढ़ोतरी होती रहेगी।

फसल-पहले एमएसपी – नई एमएसपी

बाजरा 2150-2250

ज्वार 2620 – 2738

रागी 3295 – 3377

मक्का 1850 – 1870

मूंग 7196 – 7275

अरहर 6000 – 6300

उड़द 6000 – 6300

मूंग 7196 – 7275

तिल 6855 – 7307

मूंगफली 5275 – 5550

सूरजमुखी 5885 – 6015

सोयाबीन 3880 – 3950 (सभी मूल्य रुपये में)

हमने तो बेस्ट आफर दिया है, वे आगे तो आएं : तोमर

नए कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ लंबे समय से दिल्ली बार्डर पर डेरा जमाए किसान संगठनों के नेताओं पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने फिर दो टूक कहा कि हमने तो उनको बेस्ट आफर दिया है, वे आगे तो आएं। नए कानूनों पर बातचीत के लिए तर्को के साथ आएं। किसान नेताओं से कृषि कानूनों के अलावा अन्य मुद्दों पर भी बात करने को तैयार हैं। हम किसानों के हित में हरसंभव कदम उठाने को तैयार हैं।

सरकार कर रही खरीद

एमएसपी खत्म करने की आशंका जताने वालों पर तीखा तंज करते हुए तोमर ने कहा, ‘मैंने संसद में भी कहा था कि एमएसपी है और रहेगी। एमएसपी के सहारे उत्पादन व उत्पादकता बढ़ाने में मदद मिल रही है। सरकारी एजेंसियां आगे बढ़कर ज्यादा से ज्यादा खरीद भी कर रही हैं।’

डीएपी पर सब्सिडी देगी सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए तोमर ने कहा कि जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में डीएपी खाद के मूल्य बढ़े तो घरेलू किसानों की चिंताओं का निराकरण किया गया। डीएपी के मूल्य में कोई बढ़ोतरी न करने के लिए सरकार 15 हजार करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी देगी।

राहुल पर तंज

किसान आंदोलन को लेकर सरकार पर हमलावर हुए राहुल गांधी के एक ट्वीट के बारे में तोमर ने अपने चिर परिचित अंदाज में व्यंग्य करते हुए कहा, ‘उन्हें तो खुद कांग्रेस गंभीरता से नहीं लेती। फिर उनकी बातों का क्या।’

4G स्पेक्ट्रम का रेलवे को ज्यादा आवंटन

वहीं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इन फैसलों की जानकारी देते हुए कहा कि रेलवे यातायात ज्यादा सुरक्षित करने के लिए 4G स्पेक्ट्रम का रेलवे को ज्यादा आवंटन किया गया है। अब तक रेलवे 2G स्पेक्ट्रम का उपयोग करती थी। यही नहीं ऑटोमैटिक ट्रेन प्रोटेक्शन की व्यवस्था अब रेलवे में बहुत ज्यादा मजबूत की जा रही है। दो गाड़ियों का टकराव न हो, इसके लिए जो व्यवस्था बनी है, उसे 4 भारतीय कंपनियों ने बनाया है।