Chhath Puja Guidelines: छठ पूजा के लिए यूपी सरकार ने जारी की गाइडलाइन, घर पर पूजा करने की अपील

उत्तर प्रदेश में छठ पूजा को लेकर योगी सरकार ने गाइडलाइन जारी की है। पर्व के दौरान सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर शासन ने कड़े निर्देश दिए हैं। गृह विभाग की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि महिलाओं को प्रेरित किया जाए कि वे छठ पूजा घर पर ही रह कर मनाएं। सरकार की जारी गाइडलाइन का उद्देश्य महापर्व की आस्था के दौरान कोविड मैनेजमेंट करना है। इससे पहले छठ पर्व को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घाटों की साफ-सफाई सहित सभी व्यवस्थाएं समय से पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि छठ पर्व लोक आस्था के साथ ही, प्रकृति के प्रति हमारी भावनाओं को उजागर करता है। पूरी सात्विकता और आत्मिक शुद्धि के साथ मनाया जाने वाला यह पर्व सामाजिक समरसता का पर्व भी है। अपने सरकारी आवास पर आयोजित बैठक में सीएम योगी ने छठ पर्व के आयोजन के संबंध में की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि वर्तमान कोविड काल में पर्वों और त्योहारों के दौरान बहुत सावधानी बरतना आवश्यक है। छठ पर्व सामूहिक रूप से संपन्न किया जाता है। इसे देखते हुए जिला स्तर पर समीक्षा करते हुए संक्रमण के नियंत्रण के प्रभावी उपाय किए जाएं। पूजा के बाद पूजा स्थल की स्वच्छता बनाए रखने की ओर भी पूरा ध्यान दिया जाए। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि छठ पूजा के अवसर पर घाटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था किए जाने के साथ ही महिलाओं को इस पर्व को घर पर रहकर मनाने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा घाटों के किनारे पारंपरिक स्थानों पर अर्घ्य दिए जाने के समुचित प्रबंध किए जाने के अलावा पानी के बहाव के समुचित प्रबंध किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। घाटों पर निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश भी दिए गए हैं।

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने छह पूजा के मौके पर घाटों पर कोविड-19 की गाइड लाइन का सख्ती से अनुपालन कराने का निर्देश दिया है। कहा है कि नदियों व तालाबों पर उचित प्रकाश व्यवस्था व गोताखोरों की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। यातायात पुलिसकर्मियों की तैनाती के साथ ही छठ पूजा स्थलों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम भी लगाए जाने के निर्देश दिए हैं। डीजीपी ने कहा है कि खासकर महिला पुलिसकर्मियों को सादे कपड़ों में मुस्तैद किया जाए और शोहदों पर कड़ी नजर रखी जाए। इंटरनेट मीडिया पर आत्तजिनक संदेशों के जरिए माहौल बिगाड़ने का प्रयास करने वालों पर भी सतर्क दृष्टि रखे जाने के निर्देश दिए हैं।