पाकिस्‍तान की खैबर-पख्तूनख्वा सरकार ने दिलीप कुमार के निधन पर जताया शोक, पेशावर में हुआ था ट्रेजेडी किंग का जन्‍म

मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का निधन हो गया है। वह 98 साल के थे। पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार ने बुधवार को दिग्गज भारतीय अभिनेता दिलीप कुमार के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि यहां उनके पैतृक शहर के लोगों द्धारा उन्‍हें हमेशा याद किया जाएगा। खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री के विशेष सूचना सहायक कामरान बंगश ने एक बयान में दिलीप कुमार के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि दिवंगत दिलीप कुमार के जन्म स्थान पेशावर में लोग उनका बहुत सम्मान करते थे। पेशावर के लोगों के लिए उनकी सेवाओं, प्यार और स्नेह के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।

दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर, 1922 को पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार इलाके में हुआ था। पाकिस्तान सरकार पहले ही उनके पैतृक घर को राष्ट्रीय विरासत घोषित कर चुकी है और उनके नाम पर इसे संग्राहलय में बदलने के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी कर चुकी हैं। दिलीप कुमार 90 के दशक की शुरुआत में पेशावर गए थे। पेशावर के लोगों द्वारा उनका बेहतरीन स्वागत किया गया था।

दिलीप कुमार को ‘ट्रेजेडी किंग’ के नाम से भी जाना जाता हैं। फिल्म दाग, मुगल-ए-आजम, दीदार, देवदास, नया दौर, ज्वार भाटा जैसी कई फिल्मों के कारण उनका नाम ट्रेजेडी किंग पड़ गया। फिल्म देवदास और मुगल-ए-आजम में दिलीप कुमार की काफी चर्चा हुई।

दिलीप कुमार काफी समय से बीमार चल रहे थे। दिलीप कुमार को सांस लेने में दिक्कत हो रहीं थी, जिसके बाद उन्‍हें मंगलवार को मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। दिलीप कुमार 5 जून को हिंदुजा अस्पताल में भर्ती हुए थे, तब उनको 6 दिन बाद ही अस्पताल से छुट्टी दी गई थी। जहां आज सुबह उनका निधन हो गया। आज शाम 5 बजे मुंबई के सांताक्रूज में उनका अंतिम संस्कार होगा।