कार्लोस गोन मामले में टोक्यो की अदालत ने अमेरिकी सेना के दिग्गज माइकल टेलर और उनके बेटे को सजा सुनाई

कार निर्माता कंपनी रेनॉ और निसान के चेयरमैन और सीईओ रहे कार्लोस गोन को जापान से भागने में मदद करने के लिए टोक्यो की एक अदालत ने सोमवार को अमेरिकी सेना के विशेष बल के दिग्गज माइकल टेलर को दो साल और उनके बेटे को एक साल आठ महीने की सजा सुनाई है। कार्लोस गोन भ्रष्टाचार के आरोप की वजह से नजरबंद थे। गोन को नाटकीय तरीके से भगाने के लिए दोनों अमेरिकी लोगों की गिरफ्तार किया गया था। माइकल टेलर को और उनके बेटे को मैसाचुसेट्स की एक जेल में रखा गया था हैं।

अमेरिकी सेना के विशेष बल के दिग्गज माइकल टेलर और उनके बेटे पीटर ने टोक्यो की अदालत से पिछले महीने माफी मांगी थी और कहा था कि उन्हें जापान के कंसाई हवाई अड्डे से निजी जेट के एक बॉक्स में छिपा कर जापान से गोन की तस्करी में अपनी भूमिका पर खेद है।

आपकों बता दें कि कार्लोस गोन पर आरोप था कि उन्होंने लगभग 6.5 अरब रुपये के घालमेल किया था, आरोप लगने के बाद उनको 2018 में गिरफ्तार किया गया था। लेकिन गोन को जमानत मिल गई थी, जिसके बाद वह 2019 में जापान से फरार हो गया था। कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए कार्लोस गोन जापान से भगकर लेबनान चले गए थे। गोन पर लगे आरोप पर जापान के लोग हैरान थे। जापान से भागने के बाध गोन ने अपनी सफाई दी थी और बताया था कि वह जापान से क्यों भागे, उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया था कि उनकों हिरासत में लिए जाने के बाद से किसी से मिलने नहीं दिया जा रहा था। उन्हें पहले से ही दोषी मान जा चुका था, जिसकी वहज से वह वहां से भाग गए।

कार्लोस गोन के भ्रष्टाचार की वजह से निसान कंपनी की इमेज निगेटिव हो गई है और कंपनी को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।