Monsoon Session: पेगासस और कृषि किसानों के मुद्दे को लेकर संसद में आज भी हंगामे के आसार, राज्यसभा में IT मंत्री देंगे जवाब

संसद के मानसून सत्र में आज भी संसद के दोनों सदनों में हंगामें के आसार हैं। संसद के मानसून सत्र के तीसरे दिन भी विपक्षी दलों के हंगामा करने के आसार हैं। पेगासस जासूसी कांड, कृषि कानून विरोधी आंदोलन और महंगाई के मुद्दे पर लगातार दो दिन संसद की कार्यवाही बाधित हुई है। आज भी संसद में पेगासस और किसानों के मुद्दे पर हंगामे के आसार हैं। हालांकि, मंगलवार को राज्यसभा में कोरोना पर बहस हुई। बुधवार को बकरीद के कारण संसद की कार्यवाही नहीं चली थी। आज सुबह 11 बजे संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही दोबारा शुरू होगी।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि कोई स्पष्टीकरण केवल तभी मांग सकता है जब बयान दिया गया हो और सरकार ऐसा ही कर रही हो। सभी सदस्य बोल नहीं पाएंगे। यह खुद को कुचलने और बचाने और अन्य सदस्यों को (पेगासस मुद्दे पर) बोलने की अनुमति नहीं देने का प्रयास है।

– कांग्रेस के लोकसभा सांसद मनीष तिवारी ने पेगासस मुद्दे पर सदन में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।

– किसान आंदोलन के मुद्दे पर कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रताप सिंह बाजवा ने नियम 267 के तहत निलंबन का नोटिस दिया है।

– भाकपा के राज्यसभा सांसद बिनॉय विश्वम ने राज्यसभा में राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार के जवाब के खिलाफ विशेषाधिकार प्राप्त प्रस्ताव नोटिस पेश किया कि ऑक्सीजन की अनुपलब्धता के कारण किसी की मृत्यु नहीं हुई है।

कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने किसान विरोधी विधेयक के खिलाफ किसानों के लंबे आंदोलन के बारे में चर्चा के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है और सरकार को इसे वापस लेने का निर्देश दिया है।

आज राज्यसभा में आईटी मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव देंगे बयान

राज्यसभा में आज जासूसी कांड पर आईटी मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव बयान देंगे। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव आज दोपहर 2 बजे संसद में बोलेंगे। कांग्रेस का इस मुद्दे पर सरकार को घेरने के लिए बड़ा प्लान है। साथ ही राज्यसभा में पेगासस और आक्सीजन की कमी के कारण हुई मौत के मामले पर हंगामे के आसार हैं।

लोकसभा में भी हो सकता है जोरदार हंगामा

लोकसभा में आज किसानों और जासूसी कांड के मसले पर एक बार फिर हंगामा होने की संभावना है। सदन की कार्यवाही शुरू होने के पहले संसद परिसर में विपक्ष कृषि क़ानूनों पर प्रदर्शन कर सकता है। सदन में भी इन दोनों विषयों पर ज़बरदस्त हंगामा हो सकता है। जहां तक सरकारी एजेंडा का सवाल है तो लोकसभा में आज आवश्यक रक्षा सेवा बिल पेश किए जाने की सम्भावना है। बिल को अध्यादेश के बदले पेश किया जाएगा और इसमें आयुध कारखानों में हड़ताल करने पर 2 साल तक जेल की सज़ा का प्रावधान है।

गुरुवार 22 जुलाई के लिए संसद का कार्यक्रम

लोकसभा

पेश किए जाने वाले विधेयक

-अंतर्देशीय पोत विधेयक, 2021

-आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, 2021

विचार और पारित करने के लिए विधेयक

-फैक्टरिंग रेगुलेशन (संशोधन) विधेयक, 2020

-राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान,

उद्यमिता और प्रबंधन विधेयक, 2021

कांग्रेस आज करेगी प्रदर्शन

पेगासस जासूसी मामले (Pegasus phone hacking) पर कांग्रेस (Congress) ने केंद्र सरकार पर हमला तेज़ कर दिया है। कांग्रेस आज देश के अलग-अलग हिस्सों में इस मसले पर विरोध प्रदर्शन करेगी और राजभवनों तक मार्च निकालेगी। पेगासस मामले पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट ने कहा है, ”लोग जानना चाहते हैं कि किस संस्था या व्यक्ति के माध्यम से अवैध तरीके से फोन हैकिंग किया गया और सूचनाएं बटोरी गईं। कांग्रेस इसे लेकर देशभर में आंदोलन करेगी। कुछ छुपाने को नहीं है तो सरकार को विश्वसनीयता स्थापित करने के लिए जांच करानी चाहिए।”