सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा, कर्नाटक में बहुत ही जल्द किया जाएगा मंत्रिमंडल का विस्तार

कर्नाटक के नवनियुक्त मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई दिल्ली दौरे पर हैं। शुक्रवार को उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। शनिवार को उन्होंने पत्रकारों से कहा कि राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार बहुत ही जल्द किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि वह आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पिछले साल और इस साल के माल और सेवा कर (GST) रिफंड मामले में मुलाकात करेंगे। इससे पहले शुक्रवार को उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर हुबली-धारवाड़ में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के लिए मंजूरी मांगी। बोम्मई ने रायचूर में एम्स जैसे संस्थान के लिए भी मंजूरी मांगी है, जिसे नीति आयोग द्वारा एक आकांक्षी जिले के रूप में पहचाना गया। उन्होंने कलबुर्गी में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को क्षेत्रीय एम्स जैसे संस्थान में अपग्रेड करने की भी अपील की है।

शनिवार सुबह कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने राजघाट में महात्मा गांधी की समाधि पर फूल अर्पित किए। उन्होंने कहा, ‘मैं बचपन से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन से प्रभावित रहा हूं। मैं मुख्यमंत्री के तौर पर कर्नाटक की ज़िम्मेदारी ले रहा हूं इसलिए मैंने यहां आकर प्रेरणा ली।’

मंत्रिमंडल विस्तार में हस्तक्षेप नहीं करेंगे येदियुरप्पा

वहीं, मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को दोहराया कि वह मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता वाले नए मंत्रिमंडल में मंत्रियों के चयन में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। यह कहते हुए कि वह पार्टी को मजबूत करने की दिशा में काम करना जारी रखेंगे। भाजपा के दिग्गज नेता येदियुरप्पा ने कहा कि उनके उत्तराधिकारी और नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई पार्टी नेतृत्व के परामर्श से अपनी टीम चुनने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र हैं।

बसवराज के नेतृत्व में राज्य में होंगे अच्छे काम: येदियुरप्पा

येदियुरप्पा ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि उनके नेतृत्व में अच्छे काम होंगे। 2019 में कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन छोड़ने के बाद भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों को शामिल करने के सवाल पर, उन्होंने कहा कि यह बोम्मई को तय करना है। वह नेतृत्व के साथ चर्चा करें और निर्णय लें। यह पूछे जाने पर कि उनके इस्तीफे से पार्टी के कई कार्यकर्ता नाराज हैं, येदियुरप्पा ने कहा, ‘सत्ता स्थायी नहीं है, मैंने अपनी आंखों के सामने एक सक्षम व्यक्ति को पोषित करने और दूसरों के लिए रास्ता बनाने के लिए ऐसा (इस्तीफा) किया है। यह सक्षम व्यक्ति जैसे बसवराज बोम्मई आज मुख्यमंत्री हैं।

गौरतलब है कि बोम्मई ने गुरुवार को कहा था कि उनके दिल्ली दौरे के बाद ही राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा।