Delhi Metro: केंद्रीय मंत्री व सीएम केजरीवाल ने किया त्रिलोकपुरी से मयूर विहार पाकेट एक के बीच मेट्रो परिचालन का शुभारंभ

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पिंक लाइन पर त्रिलोकपुरी से मयूर विहार पाकेट एक के बीच मेट्रो परिचालन का शुभारंभ किया। इससे पिंक लाइन के करीब 59 किलोमीटर नेटवर्क पर शिव विहार से मजलिस पार्क तक मेट्रो सेवा उपलब्ध हुई। चौथे फेज में पिंक लाइन का मजलिस पार्क से मौजपुर तक विस्तार किया जा रहा है। चौथे फेज का कारिडोर बनकर तैयार होने पर पिंक लाइन की लंबाई 70 किलोमीटर हो जाएगी।

वैसे तो यह कारिडोर महज 290 मीटर लंबा है, लेकिन इस छोटे से कारिडोर पर मेट्रो का परिचालन शुरू होने से पिंक लाइन के पूरे 58.59 किलोमीटर हिस्से पर शिव विहार से मजलिस पार्क तक सीधी मेट्रो उपलब्ध हो जाएगी। इससे पूर्वी दिल्ली से दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली व बाहरी दिल्ली के बीच आवागमन की सुविधा बेहतर हो जाएगी। पिंक लाइन को ¨रग रोड के समानांतर बनाया गया है।

इसका मकसद रिंग रोड पर वाहनों के दबाव को कम करना है। अभी तक पिंक लाइन के दो हिस्सों पर मेट्रो का परिचालन हो रहा है। इसके एक हिस्से पर मजलिस पार्क से मयूर विहार पाकेट एक के बीच और दूसरे हिस्से पर त्रिलोकपुरी से शिव विहार के बीच मेट्रो का परिचालन हो रहा है। इन दोनों कारिडोर के बीच त्रिलोकपुरी से मयूर विहार पाकेट एक स्टेशन तक 290 मीटर हिस्सा जमीन विवाद में फंस गया था।

इससे इसके निर्माण में देरी हुई। जमीन विवाद खत्म होने के बाद दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने स्टील के गार्डर से इस कारिडोर का निर्माण पूरा किया। इसलिए पिंक लाइन का अब पूरा हिस्सा आपस में जुड़ गया है। लिहाजा, त्रिलोकपुरी से मयूर विहार पाकेट एक के बीच परिचालन शुरू होते ही पिंक लाइन का पूरा कारिडोर यात्रियों के लिए खुल जाएगा।

इससे पिंक लाइन दिल्ली मेट्रो का सबसे बड़ा कारिडोर बन जाएगा। इसका 39.48 किलोमीटर हिस्सा एलिवेटेड व 19.11 किलोमीटर हिस्सा भूमिगत है। इस कारिडोर पर कुल 38 मेट्रो स्टेशन हैं। इसमें से 26 एलिवेटेड व 12 भूमिगत मेट्रो स्टेशन हैं। वही ब्लू लाइन की कुल लंबाई 56.61 किलोमीटर है।