मोहम्मद कैफ का दावा- केएल राहुल ही खेलेंगे अगले कुछ मैच, इस ओपनर को करना होगा इंतजार

लगभग दो वर्ष के बाद केएल राहुल को टेस्ट क्रिकेट में मौका मिला और अपनी पहली टेस्ट पारी में केएल राहुल शांत, आश्वस्त और प्रतीक्षारत खेल खेलने के लिए तैयार दिखे। वह अपनी पारी के दौरान ऐसे नहीं दिखे कि वे जल्दबाजी में हैं, जैसा कि अतीत में देखने को मिला था। केएल राहुल खराब गेंदों की प्रतीक्षा कर रहे थे और जब-जब उनको खराब गेंद मिली, उन्होंने उसका भरपूर फायदा उठाया।

 

पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में उन्होंने 214 गेंदों का सामना किया और कुल 84 रन बनाए। वे एक छोर पर डटे रहे और टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। यहां तक कि किस्मत भी लोकेश राहुल के साथ थी। वह पहले मैच में पहली पसंद के सलामी बल्लेबाज नहीं थे, क्योंकि अभ्यास सत्र के दौरान मयंक अग्रवाल के सिर पर चोट लगी थी और इस वजह से उनको टॉप ऑर्डर में खेलने का मौका मिला था।

अपनी पहली पारी के शानदार बल्लेबाजी करने वाले केएल राहुल ने दूसरी पारी में अच्छी शुरुआत की और ताबड़तोड़ 25 रन बनाए, जिसमें छह चौके शामिल थे। वहीं, पहले मैच से पहले चोटिल हुए मयंक अग्रवाल ने भी फिटनेस टेस्ट पास कर लिया है और वे नेट्स में लौट आए हैं और दूसरे टेस्ट मैच के लिए सलेक्शन के लिए उपलब्ध हैं, लेकिन पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ को लगता है कि उन्हें अब कुछ समय इंतजार करना पड़ सकता है।

कैफ का मानना है कि कम से कम पांच मैचों की सीरीज के पहले हाफ के लिए केएल राहुल ने अंतिम ग्यारह में अपना स्थान पक्का कर लिया है। बुधवार को कैफ ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “वह (केएल राहुल) अगले कुछ मैच खेलेंगे। उन्होंने ओपनर की डील को सील कर दिया है। पहले टेस्ट में उन्होंने अपना शानदार खेल दिखाया और वे अब एक बेहतर खिलाड़ी दिख रहे हैं। ऐसे में मयंक अग्रवाल को अभी इंतजार करना होगा।”

कैफ ने देखा कि नॉटिंघम में राहुल की पारी की एक खास बात यह थी कि वह बाउंड्री मारने के लिए जोर नहीं दे रहे थे और अपनी भूमिका को अच्छी तरह से समझ रहे थे। उन्होंने बताया, “वह और अधिक शांत हो गए हैं। पिछली बार (2018 में) वह (रन के लिए) दौड़ते हुए दिखे थे। इस बार वह बाउंड्री मारने के लिए जल्दबाजी नहीं कर रहे हैं। वह अब अपनी भूमिका जानते हैं – वहीं रुको और जब खराब गेंद आए, तो स्कोर करो।”