हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज की बड़ी घोषणा, अब पुलिस अधिकारी भी लगाएंगे जनता दरबार

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बड़ा कदम उठाया है। उन्‍होंने कहा है कि राज्य में सभी पुलिस अधिकारी भी जनता दरबार लगाएंगे। उन्‍हाेंने इस संबंध में पुलिस अधिकारियों को निर्देश भी जारी कर दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि पुलिस अधिकारी सभी कार्य दिवसों में जनता की शिकायतों को सुनने और उनका निवारण करने के लिए सुबह 11.00 बजे से दोपहर 12.00 बजे तक जनता दरबार आयोजित करेंगे। इसके अलावा, उन्होंने सड़कों पर ट्रकों और भारी वाहनों की उनकी लेन में आवाजाही सुनिश्चित करने का भी‍ निर्देश दिया है।

 जनता की शिकायतों को सुनने व निवारण के लिए सुबह 11.00 से 12.00 बजे तक लगेगा जनता दरबार

अनिल विज आज प्रदेश के सभी पुलिस आयुक्त, सभी आइजी, सभी पुलिस अधीक्षक और सभी पुलिस उपायुक्तों को कहा कि वे अपने अपने कार्य क्षेत्रों में जनता दरबार आयोजित करेंगे ताकि निर्धारित समय अवधि में लोगों की शिकायतों का निवारण हो सके।

इसी प्रकार, उन्होंने सड़कों पर ट्रकों और भारी वाहनों की उनकी लेन में आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए संबंधित उच्च अधिकारियों को भी लिखित आदेश जारी किए हैं। इन आदेशों के अनुपालन के लिए सभी पुलिस आयुक्त, सभी आइजी रेंज, आइजी यातायात, सभी पुलिस अधीक्षक और सभी पुलिस उपायुक्तों को दिन-रात पर्याप्त संख्या में कर्मचारियों को तैनात करने की लिए भी कहा गया है ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचा जा सके।

उल्लेखनीय है कि गृहमंत्री स्वयं प्रत्येक शनिवार को अंबाला में जनता दरबार लगाते हैं और इस जनता दरबार में प्रदेश भर से आए हुए सभी शिकायतों को सुनने के बाद वे संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हैं। गौरतलब है कि विज के जनता दरबार में प्रत्येक शनिवार को लगभग एक हजार से अधिक फरियादी आमतौर पर आते हैं।

बता दें कि गत दिवस अंबाला-अमृतसर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जग्गी सिटी सेंटर अंबाला शहर के नजदीक सडक़ दुर्घटना में दो पुलिस कर्मियों व दो अन्य लोगों की मृत्यु हो गई थी। घटना की सूचना मिलने के बाद हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने शहर के नागरिक अस्पताल में पहुंचकर हादसे की जानकारी ली थी तथा वहीं परिजनों से मिलकर उन्होंने सांत्वना भी व्यक्त की थी। इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा था कि टैंकर व ट्रक वाले एक लाईन में चलें इसके लिए निर्देश जारी किए जाएंगे ताकि भविष्य में कोई अप्रिय घटना से बचा जा सके।