Ball Tampering को लेकर भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच ने कहा- जानबूझकर नहीं की छेड़छाड़

भारत के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि इंग्लैंड गेंद से छेड़छाड़ करने की कोशिश कर रहा था। उनका कहना है कि घटनाओं का पूरा क्रम सिर्फ ‘आकस्मिक था और यह जानबूझकर नहीं था’। लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में भारत की दूसरी पारी के 34वें ओवर से पहले इंग्लैंड के दो खिलाड़ी अपने स्पाइक्स के साथ गेंद पर कदम रखते नजर आए।

चौथे दिन के खेल समाप्त होने के बाद प्रेस कान्फ्रेंस में विक्रम राठौर ने कहा, “वास्तव में नहीं, हम बाहर बैठे थे इसलिए हमने उन रिप्ले को बहुत देखा। मैंने इसे बाद में देखा। यह दिखाता है कि जानबूझकर कुछ भी नहीं किया गया। मुझे लगता है कि यह आकस्मिक था, हमने वास्तव में इसके बारे में कुछ नहीं सोचा था।” शॉन पोलक, जो उस समय कमेंट्री कर रहे थे, उन्होंने भी इस घटना को लेकर अपनी असहमति प्रकट की।

विशेष रूप से इस घटना के बाद अंपायरों द्वारा गेंद को नहीं बदला गया था। पोलक ने यहां तक ​​कहा कि मैच रेफरी इस पर एक नजर डालना चाहते हैं। हालांकि, इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड ने इसे दुर्घटना करार दिया। एक फैन के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “जैसा कि मुझे यकीन है कि आप पूरी फुटेज देखने से अवगत हैं- यह जानबूझकर नहीं था। कहानी का अंत यही होता है।”

रोहित शर्मा और विराट कोहली दोनों ने दूसरी पारी में क्रमश: 21 और 20 रन पर आउट होने के बाद बल्ले से निराश किया। जहां रोहित को अपना पसंदीदा पुल शाट खेलते हुए वापस पवेलियन भेज दिया गया। वहीं, विराट कोहली ने ऑफ के बाहर फेंकी गई एक वाइड डिलीवरी का पीछा करते हुए विकेट गंवाया। अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने क्रमशः 61 और 45 रन बनाए। इसी वजह से भारत ने चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक 181 रन बना लिए थे और मेजबानों पर 154 रन की बढ़त बना ली थी।