US President Election: राष्‍ट्रपति ट्रंप आखिर किस शर्त पर छोड़ने को राजी हुए अपनी कुर्सी, जानें- उनके अटपटे बोल

अमेरिकी राष्‍ट्रप‍ति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्‍याशी जो बाइडन चुनाव जीत चुके हैं। वह जीत के लिए निर्धारित इलेक्ट्रॉल कालेज के 270 मतों का आंकड़ा पार कर चुके हैं। इतना ही नहीं वह अपनी नई कैबिनेट के नामों का ऐलान भी कर चुके हैं, लेकिन उनके प्रतिद्वंद्वी राष्‍ट्रपति ट्रंप अभी किसी सूरत में हार मानने को राजी नहीं है। उम्‍मीद है कि 20 जनवरी तक बाइडन अपना कार्यभार ग्रहण कर लेंगे। इसके बावजूद राष्‍ट्रपति ट्रंप अभी भी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। गुरुवार को दिए अपने एक नए बयान के कारण सुर्खियों में है। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अगर इलेक्ट्रॉल कालेज बाइडन को विजेता घोषित करता है तो वह व्‍हाइट हाउस छोड़ने को राजी होंगे। उनके इस बयान के बाद राष्‍ट्रपति चुनाव में हार-जीत का मामला अब अदालत से निकल कर इलेक्ट्रॉल कालेज के पास पहुंच गया है। इसके पूर्व भी हार-जीत को लेकर अपने अटपटे बयानों के कारण ट्रंप सुर्खियों में रह चुके है। आइए जानते हैं कि इसके पूर्व उन्‍होंने क्‍या दिए बयान। आखिर उन बयानों के क्‍या है राजनीतिक निहितार्थ।

अटपटे बोल-1

बाइडन अगर राष्‍ट्रपति बने तो निर्वाचक मंडल की होगी बड़ी भूल

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अगर इलेक्ट्रॉल कालेज बाइडन को विजेता घोषित करता है तो वह व्‍हाइट हाउस छोड़ने को राजी होंगे। उन्‍होंने कहा कि 20 जनवरी बहुत दूर है। ट्रंप ने कहा कि तब तक घटनाक्रम में तेजी से बदलाव आएंगे। राष्‍ट्रपति चुनावों में हुई धोखाधड़ी तब तक उजागर हो जाएगी। ट्रंप ने कहा कि हम चुनावों में हार-जीत के लिए किसी तीसरी दुनिया की तरह कंप्‍यूटर उपकरणों को हैक करने की रणनीति अपना रहे हैं। उन्‍होंने मीडिया के समक्ष कहा कि वह व्‍हाइड हाउस छोड़ देंगे अगर इलेक्ट्रॉल कालेज बाइडन को राष्‍ट्रपति के रूप में प्रमाणित करता है। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि यदि निर्वाचक मंडल ने बाइडन को राष्‍ट्रपति निर्वाचित किया तो यह इतिहास की एक बहुत बड़ी भूल होगी।

ट्रंप का दावा, राष्‍ट्रपति जीत के पुख्‍ता सबूत

ट्रंप ने पेंस‍िल्‍वेनिया में र‍िपब्लिकन पार्टी से कहा कि उनके पास चुनाव परिणाम को अपने पक्ष में हासिल करने के लिए पुख्‍ता सभी सबूत हैं। उन्‍होंने कहा कि मैं इस चुनाव को जबरदस्‍त मतों से जीत रहा हूं। ट्रंप ने कहा कि चुनाव में क्‍या हो रहा है। अमेरिकी नागरिकों को पता है कि चुनाव में धांधली हो रही है। उन्‍होंने संकेत दिए कि राष्‍ट्रपति चुनाव में एक कठ‍िन दौर आने वाला है। अब यह एक जटिल प्रक्रिया से गुजरेगी। उन्‍होंने कहा कि यह चुनाव एक धोखा था। ट्रंप ने कहा कि इस चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है। यह पूछे जाने पर कि क्‍या अगले साल 20 जनवरी को बाइडन के उद्घाटन में शामिल होंगे। उन्‍होंने कहा कि इस प्रश्‍न का जवाब मूझे मालूम है, लेकिन मैं अभी इसका जवाब नहीं देना चाहता हूं।

अटपटे बोल-2

1- पहले कहा बाइडन चुनाव जीत गए, फ‍िर अपने ही बयान से पलटे

इसके पूर्व ट्रंप की दो विरोधीभासी बात सामने आई थी। राष्‍ट्रपति चुनाव के परिणामों को लेकर बार-बार ऊंगली उठाने वाले जब ट्रंप ने पहली बार लिखा कि वो (जो बाइडन) चुनाव जीत गए हैं। ट्रंप के बयान को इस संकेत के तौर पर देखा गया, उन्‍होंने अपनी पराजय स्‍वीकार कर ली है। उनके इस बयान के बाद लगा कि वह इस बात को मान गए कि उनके प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति पद का चुनाव जीत लिया है। इस बयान के बाद ट्रंप ने एक अन्‍य ट्वीट में अपने बयान का संशोधन किया। उन्‍होंने लिखा कि वो (जो बाइडन) चुनाव जीते हैं, क्‍योंकि चुनाव में हेराफेरी हुई है। उन्‍होंने बाइडन का नाम लिए बगैर कहा कि वो सिर्फ फेक न्‍यूज मीडिया की नजरों में जीते हैं। मैं चुनावी नतीजों को स्‍वीकार नहीं करूंगा। इस चुनाव में जबरदस्‍त हेराफेरी हुई है। इस लड़ाई को हमें आगे लेकर जाना है।