मंत्री सिंहदेव उड़े दिल्ली, छत्तीसगढ़ में फिर चढ़ा सियासी पारा, माकन तीन सितंबर को आएंगे प्रदेश के दौरे पर

छत्तीसगढ़ में सोमवार को एक बार फिर सियासी पारा हाई हो गया। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने अपने निवास कार्यालय में विभाग के अधिकारियों की बैठक ली और दोपहर में दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इससे यह चर्चा तेज हो गई कि कांग्रेस हाईकमान ने उन्हें बुलाया है। हालांकि उनके करीबी नेताओं का कहना है कि यह उनकी निजी यात्रा है। एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वे दिल्ली गए हैं। चर्चा है कि दिल्ली में वे केंद्रीय नेताओं से भी मुलाकात करेंगे।

तीन सितंबर को प्रदेश के दौरे पर आ रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के बीच चल रही खींचतान के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन तीन सितंबर को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आ रहे हैं। वे रायपुर के कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में विनिवेशीकरण के विरोध में पत्रकारवार्ता करेंगे। कांग्रेस का यह देशव्यापी कार्यक्रम है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी लखनऊ में पत्रकारवार्ता को संबोधित करेंगे। माकन के छत्तीसगढ़ प्रवास को लेकर भी कयासों का दौर चल रहा है। कांग्रेस का एक गुट यह दावा कर रहा है कि माकन रायपुर दौरे के दौरान विधायकों से भी चर्चा करेंगे। वहीं एक गुट यह दावा कर रहा है कि तीन सितंबर के बाद कांग्रेस आलाकमान की ओर से पर्यवेक्षकों का एक दल रायपुर भेजा जाएगा।

सुलह-समझौता की राह निकालने के लिए आएंगे कई और नेता

डैमेज कंट्रोल और सुलह-समझौते की राह निकालने के लिए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और पूर्व केंद्रीय मंत्री शैलजा कुमारी के भी यहां आने की चर्चा है। संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल का नाम भी चर्चा में है। हालांकि इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं कर रहा है।

कांग्रेस विनिवेशीकरण के विरोध में, मोदी सरकार बेंच रही राष्ट्रीय संपत्तियां

कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि मोदी सरकार जिस तरह से एक-एक राष्ट्रीय संपत्ति को बेच रही है, उसके विरोध में अजय माकन जानकारी देंगे। इधर सिंहदेव के अचानक दिल्ली जाने से छत्तीसगढ़ में फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है।