Trilochan Singh Wazir murder: आरोपित ने फेसबुक पर लिख दिया हत्या का कुबूलनामा!

नेशनल कान्फ्रेंस के जम्मू से सिख नेता व पूर्व विधान पार्षद त्रिलोचन सिंह वजीर के हत्या आरोपित हरप्रीत सिंह खालसा व हरमीत सिंह खालसा के बारे में दिल्ली पुलिस को कोई सटीक सुराग नहीं मिल पा रहा है। इस बीच पश्चिमी व बाहरी जिले की पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच व स्पेशल सेल की कई टीम जम्मू में पिछले कई दिनों से डेरा डाल दोनों को दबोचने के लिए हर संभावित ठिकाने पर खाक छान रही है।

गत शनिवार को हरमीत सिंह के फेसबुक पेज पर जो छह पन्ने का पोस्ट किया गया था, वह एक तरह से हत्या का कबूलनामा ही लग रहा है। हालांकि, पुलिस इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे उक्त तथ्य को अभी सही नहीं मान रही है, लेकिन पोस्ट में विस्तार से जिस तरह की बातें लिखी गई हैं उससे ऐसा लगता है कि उक्त पत्र को हरमीत ने ही लिखा है। हरप्रीत के परिवार में मां व बहन है। कई साल पहले पिता की मृत्यु हो चुकी है। पुलिस का कहना है कि हरप्रीत अपनी मां व बहन से कोई संपर्क नहीं रखता था। इस कारण ही स्वजन से हरप्रीत के बारे में सुराग नहीं लग पाया। हरमीत के स्वजन से भी पुलिस को उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई।

इन बातों को सुन गुस्से में आया हरमीत

हरमीत के फेसबुक पोस्ट पर छठे पन्ने में स्पेशल नोट करके पांच बातें लिखी हुई है। हरमीत के नाम से लिखे नोट में कहा गया है कि उसे सब से ज्यादा गुस्सा तब आया जब वजीर ने कहा कि उसने चोपड़ा परिवार को मरवा दिया है। बिल्ला व डिग्यिाना के तीन लड़कों को भी मार दिया है साथ ही पप्पी सिंबल वाले को मरवा देने की बात कही। वजीर से हरप्रीत को उसने यह कहते हुए भी सुना कि अब तक उसने सौ के करीब लोगों को मारवा दिया है। दिल्ली से उनकी बात मुंबई के डान से हुई है। डान की टीम जम्मू पहुंच गई है और दो करोड़ उसे एडवांस दे दिया गया है। हरमीत व उसके बेटे को जल्द ही मरवा दिया जाएगा।