डेविड वार्नर की चोट से क्यों खुश हैं भारतीय टीम के उपकप्तान, बताया कारण

भारत के सीमित ओवरों के उपकप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज केएल राहुल ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को लेकर बड़ा बयान दिया है। केएल राहुल ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलियाई चोटिल सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर भारत के खिलाफ होने वाले तीसरे वनडे के लिए अपनी चोट से उबर नहीं पाएंगे। रविवार 29 नवंबर को सिडनी में खेले गए दूसरे वनडे मैच में उनको फील्डिंग करते समय चोट लगी थी।

दूसरे वनडे मैच में मेजबान टीम को बड़ा झटका उस समय लगा था, जब सलामी बल्लेबाज वार्नर को ग्रोइन की चोट से गुजरना पड़ा और वे लंगड़ाते हुए मैदान के बाहर गए। इस पर मैच के बाद केएल राहुल ने कहा, “हमें नहीं पता कि उनकी चोट कितनी गंभीर है। यह अच्छा होगा, अगर वह लंबे समय के लिए चोटिल रहें। वह उनके मुख्य बल्लेबाज हैं। किसी के लिए ऐसी दुआ करना अच्छा नहीं है, लेकिन टीम के लिए यह अच्छा होगा। अगर उनकी चोट लंबे समय तक रहती है तो यह हमारी टीम के लिए अच्छा रहेगा।”

वार्नर ने दोनों मैचों में अर्धशतक लगाया और कप्तान आरोन फिंच के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की। इसी वजह से भारतीय टीम के उपकप्तान चाहते हैं कि वे अनफिट रहे। यहां तक कि मैच के दूसरे ही दिन सोमवार को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि वे सिर्फ वनडे ही नहीं, बल्कि तीन मैचों की टी20 सीरीज में भी नहीं खेल पाएंगे। उनके स्थान पर डार्सी शॉर्ट को टीम में शामिल किया गया है।वार्नर ने दोनों मैचों में अर्धशतक लगाया और कप्तान आरोन फिंच के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की। इसी वजह से भारतीय टीम के उपकप्तान चाहते हैं कि वे अनफिट रहे। यहां तक कि मैच के दूसरे ही दिन सोमवार को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि वे सिर्फ वनडे ही नहीं, बल्कि तीन मैचों की टी20 सीरीज में भी नहीं खेल पाएंगे। उनके स्थान पर डार्सी शॉर्ट को टीम में शामिल किया गया है।डेविड वार्नर चोटिल होने के बाद मैदान से बाहर गए थे और फिर बीच मैच में स्कैन के लिए स्टेडियम से रवाना हो गए थे। उन्हें भारतीय पारी के चौथे ओवर के दौरान चोट लगी थी। वार्नर ने शिखर धवन के एक शॉट को रोकने के डाइव लगाई थी, लेकिन खुद को चोटिल कर लिया था। मैदान पर गिरने के बाद से वे दर्द से करहा रहे थे और फिर फिजियो की मदद से मैदान के बाहर गए थे।