Cold Weather News: कब होगी दिल्ली में कड़ाके की ठंड, पढ़िये- क्या कहता है IMD का ताजा पूर्वानुूमान

पहाड़ी राज्यों में शुमार उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अलावा केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में हो रही बर्फबारी का असर जल्द ही दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में देखने को मिल सकता है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) के ताजा पूर्वानुमान के अनुसार, इस सप्ताह के अंत तक दिल्ली-एनसीआर में ठंड में इजाफा होगा, इसके पीछे की वजह पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी है। IMD के पूर्वानुमान के मुताबिक, आने वाले दिनों में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में अब लगातार गिरावट होगी और अगले दो तीन दिनों के दौरान अधिकतम तापमान 27  डिग्री तो न्यूनतम तापमान 12 डिग्री पर आ जाएगा। ऐसे में दिल्ली-एनसीआर वालों को ठंड का सामना करना पड़ेगा। यह भी पूर्वानुमान है कि दिसंबर से लेकर फरवरी तक कड़ाके की ठंड पड़ेगी, जिसका आगाज अगले 20-25 दिनों के दौरान हो सकता है।

इस बीच मौसम विभाग के अनुसार,  मंगलवार को भी दिनभर आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, लेकिन बारिश जैसी कोई हरकत नहीं होगी। वहीं, मंगलवार पिछले कई दिनों की तरह कोहरा रहा और कुछ इलाकों में विजिबिलिटी भी कम रही। वहीं, मंगलवार को अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 28 और 14 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

वहीं, इस बार मानसून के दौरान हुई अच्छी बारिश को सर्दियों में ज्यादा ठंड के रूप में देखा जा रहा है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो अक्टूबर के उत्तरार्ध में तापमान गिरने लगेगा। नवंबर में सर्दी का अहसास होने लगेगा। दिल्ली-एनसीआर समेत समूचे उत्तर भारत में इस बार कंपकंपाती सर्दी दिसंबर, जनवरी और फरवरी में पड़ेगी।

इससे पहले हल्की धूप के बीच सोमवार को भी तेज हवा चलने का दौर जारी रहा। इससे ठंडक का एहसास तो हुआ लेकिन साथ प्रदूषण छंटने में भी मदद मिली। अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 29.2 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर 13.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 39 से 93 प्रतिशत रहा।

मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को सफदरजंग और पालम दोनों एयरपोर्ट पर हवा की गति आठ से 14 किमी प्रति घंटे तक रही। बाद में हवाओं की रफ्तार शांत से धीमी हो गई। हवा की दिशा पश्चिम से उत्तर-उत्तर-पश्चिम दिशा की रही। ²श्यता का स्तर भी बेहतर रहा।