कानपुर : थाने के बाहर आशिक मिजाज इंस्पेक्टर का हाईवोल्टेज ड्रामा, दूसरी पत्नी ने सरेआम धुना

ग्वालटोली में तैनात अतिरिक्त एसएचओ अरुण कुमार को आशिक मिजाजी भारी पड़ गई। फर्रुखाबाद निवासी कथित दूसरी पत्नी ने सोमवार दोपहर थाने पहुंचकर इंस्पेक्टर पर तीसरी महिला से संबंध रखने और कई दिन से होटल में उसके साथ रहने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। थाने के बाहर दोनों में जमकर मारपीट हुई। इंस्पेक्टर ने दूसरी पत्नी को बाल पकड़कर घसीटा। वहीं दूसरी पत्नी ने पास खड़े सिपाही से डंडा छीनकर इंस्पेक्टर की धुनाई की। इससे उनकी वर्दी फट गई। हाईवोल्टेज ड्रामे का पता लगने पर पुलिस आयुक्त ने इंस्पेक्टर को निलंबित कर मामले की जांच एसीपी को सौंपी है।

अरुण कुमार मूलरूप से फिरोजाबाद जिले के सिरसागंज के रहने वाले हैं। वहां उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं। पुलिस के मुताबिक फर्रुखाबाद के मऊदरवाजा की रहने वाली मंजू कठेरिया कई वर्षों से अरुण के साथ कैंट स्थित सरकारी आवास में रहती है। पांच वर्ष पूर्व उसने अरुण के खिलाफ रेलबाजार थाने में दुष्कर्म का मुकदमा लिखाया था। बाद में समझौता हो गया था। अब मंजू खुद को अरुण की दूसरी पत्नी बताती हैं। सोमवार दोपहर वह ग्वालटोली थाने पहुंचीं और इंस्पेक्टर पर हरदोई की एक अन्य महिला से अवैध संबंधों का आरोप लगा हंगामा कर दिया।

कहा कि अरुण कई दिन से घर नहीं आ रहे हैं और तीसरी महिला के साथ ग्वालटोली के होटल में रहते हैं।

कार में बिठकर महिला ने होटल ले चलने के लिए कहा, लेकिन अरुण ने इन्कार कर दिया। इस पर नोकझोंक और मारपीट होने लगी। पास खड़े एक शख्स ने मोबाइल से वीडियो बनाया, जिसे थाने की पुलिस ने डिलीट करा दिया। अरुण का कहना है कि मंजू दुष्कर्म का मुकदमा लिखवाकर लाखों रुपये हड़प चुकी है। घर पर पत्नी व बच्चों को पैसे नहीं भेजने देती। थाने आकर दिवाली पर पैसे न देने का आरोप लगाते हुए मारपीट की और घायल कर दिया। गोली मरवाने की धमकी भी दी है।

पहले भी दूसरी महिलाओं के कारण छिना चार्ज और आवास

रेलबाजार थाने में दुष्कर्म का मुकदमा होने के बाद अरुण कुमार से सरकारी आवास छिन गया था। बादशाहीनाका थाने में तैनाती के दौरान कुछ सिपाहियों ने शिकायत की तो उन्हें हटा दिया गया था। नजीराबाद में तैनाती के दौरान बाबूपुरवा की महिला से और कोतवाली में तैनाती के दौरान एक अस्पताल की नर्स के साथ संबंध होने के आरोप लगे। मंजू ने बताया कि वर्ष 2007 में अरुण ने उनसे शादी की थी। इसके अलावा पांच अन्य महिलाओं से भी उसने शादी की है। सोमवार को वह फर्रुखाबाद से मिलने आई थी, लेकिन आरोपित नशे में धुत मिला और उन्हें बेरहमी से पीटा।

गलत आचरण की शिकायत पर अरुण कुमार को निलंबित कर दिया गया है। थाना प्रभारी केके दीक्षित ने उनके खिलाफ प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपी है। पूरे मामले की जांच एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय को सौंपी गई है।