भारत से ग्रेफाइट व ब्राजील से लकड़ी आने के बाद ही अमेरिका में होता है पेंसिल का निर्माण- बाइडन

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (US President Joe Biden) ने कोविड-19 महामारी के चलते दुनिया की आपूर्ति व्यवस्था कमजोर पड़ने का जिक्र किया।  उन्होंने अमेरिका में बनने वाली एक छोटी सी पेंसिल के लिए ब्राजील और अमेरिका से आने वाले कच्चे माल का उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि पेंसिल के लिए लकड़ी ब्राजील से और ग्रेफाइट भारत से आता है।

अमेरिका में होने वाले पेंसिल निर्माण के लिए दोनों देशों से कच्चा माल आने की व्यवस्था बताते हुए राष्ट्रपति बाइडन ने कहा है कि महामारी के चलते सामान का मूल्य बढ़ा है और उसके जहाजों पर लदान में देरी हुई है। बाइडन ने यह बात क्रिसमस को लेकर बाजार में सामान आने में हो रही देरी के मद्देनजर कही है। बाल्टीमोर में बाइडन ने अमेरिका के बंदरगाहों, हवाई अड्डों और मालवाही रेल व्यवस्था को आधुनिक बनाने पर जोर दिया। कहा कि इससे अमेरिकी कंपनियों को कच्चा माल लेने और उसे तैयार करके भेजने में आसानी होगी। इससे आपूर्ति व्यवस्था में बनी मुश्किलों को भी दूर किया जा सकेगा।

बाइडन ने कहा, जब माल और सामान समय पर जरूरत वाली जगह पर पहुंचेगा, तब आपूर्ति व्यवस्था को लेकर कोई चिंता पैदा नहीं होगी। राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, कोविड महामारी ने वैश्विक आपूर्ति व्यवस्था को अभूतपूर्व ढंग से प्रभावित किया। आप अगर क्रिसमस के लिए उपहार या साइकिल या जूते के लिए आर्डर करते हैं तो वे ज्यादा मूल्य और देरी से मिल रहे हैं। मतलब सीधा सा है कि किसी भी वस्तु के तैयार होने और उपभोक्ता तक पहुंचने में कच्चा माल, श्रम, पैकिंग और शिपिंग की प्रक्रिया होती है। इसमें जटिल आपूर्ति व्यवस्था सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। जैसे कि एक पेंसिल के लिए लकड़ी ब्राजील से आती है तो ग्रेफाइट भारत से आता है। तब यह पेंसिल अमेरिका के कारखाने में तैयार होती है और उसके बाद उसे बेचने के लिए अन्य स्थानों पर भेजा जाता है। सारा कुछ आपूर्ति व्यवस्था पर निर्भर करता है।