बाल यौन शोषण सामग्री देखने- प्रसारित करने के खिलाफ CBI ने 10 लोगों को हिरासत में लिया

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 10 लोगों को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मो पर बाल यौन शोषण सामग्री देखने-प्रसारित करने और स्टोर करने के खिलाफ हिरासत में लिया है। सूत्रों के मुताबिक, सीबीआइ ने इस संदर्भ में 14 राज्यों में छापेमारी की थी। सीबीआइ को शुरुआत में मिली जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर कम से कम इस अपराध के लिए 50 ग्रुप एक्टिव हैं, जो बाल यौन शोषण सामग्री प्रसारित करते हैं। इनमें से कई ग्रुप का संबंध विदेश से भी है। साथ ही सीबीआइ ने बताया कि शुरुआत में यह पता चला है कि विभिन्न देशों में इस सामग्री को प्रसारित करने के लिए कम से कम 100 देशों के नागरिक शामिल हो सकते हैं

सीबीआइ ने बताया कि एजेंसी ने 14 नवंबर को 83 आरोपियों के खिलाफ दर्ज हुए मामले के तहत 14 राज्यों के 66 जगहों पर छापेमारी की गई। एजेंसी ने बताया कि कई संगठन भारत और विदेशों के विभिन्न हिस्सों में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से बाल यौन शोषण सामग्री को प्रसारित-स्टोर करने और देखने में लिप्त थे। इसक साथ ही बताया कि ये समूह इससे संबंधित वीडियो, फोटो, टेक्स्ट, पोस्ट शेयर करते थे। इसके साथ ही सीबीआइ ने बताया कि इन छापों के दौरान काफी संख्या में गैजेट-लैपटाप आदि इलेक्ट्रानिक वस्तुएं जब्त की गई हैं। इसके साथ ही यह पता चला है कि कुछ व्यक्ति सीएसईएम सामग्री के व्यापार में शामिल थे। सीबीआई औपचारिक और अनौपचारिक चैनलों के माध्यम से सहयोगी एजेंसियों के साथ समन्वय कर रही है।