कर्नाटक: पुलिस की हिरासत में कन्‍नड़ समर्थक, सरकार के फैसले के विरोध में राज्‍यव्‍यापी बंद का किया था आह्वान

र्नाटक पुलिस ने शनिवार को कन्‍नड़ समर्थक कार्यकर्ताओं (pro-Kannada activists) को गिरफ्तार कर लिया। ये सभी कालाबुर्गी (Kalaburagi) सरदार वल्‍लभभाई पटेल चौक (Sardar Vallabhbhai Patel Chowk) पर प्रदर्शन कर रहे थे। इससे पहले बेंगलुरु के टाउन हॉल पर भी मराठा विकास प्राधिकरण के गठन का विरोध कर रहे कन्नड़ समर्थक कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया।

मराठा विकास प्राधिकरण के खिलाफ बुलाए गए राज्‍यव्‍यापी बंद के तहत कन्‍न्‍ड़ समर्थकों की रैली मेखरी सर्किल (Mekhri Circle) से मुख्‍यमंत्री आवास की ओर बढ़ रही है। बता दें आज सरकार के एक फैसले के खिलाफ कन्‍नड़ समर्थक संगठनों व कार्यकर्ताओं द्वारा राज्‍यव्‍यापी बंद का आह्वान किया है। दरअसल, कर्नाटक सरकार द्वारा मराठा विकास प्राधिकरण के गठन का फैसला लिया गया जिसका विरोध हो रहा है।हालांकि मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा (B.S. Yediyurappa) ने कार्यकर्ताओं व कन्‍नड़ समर्थक संगठनों से राज्‍यव्‍यापी बंद को खारिज करने की अपील की थी क्‍योंकि  कोविड काल में लोगों को इससे असुविधा होगीvकर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने  अपील की उन्‍होंने कहा, ‘मैं वटल नागराज सहित सभी से अपील करता हूं कि कर्नाटक बंद से लोगों को परेशान न करें। इसकी आवश्यकता नहीं है।’ येदियुरप्पा ने कहा कि वह सभी कम्‍युनिटी को साथ लेकर चलने का हर संभव प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि वह कन्नड़ भाषा को प्रमुखता देने के लिए सब कुछ कर रहे है।

बंद को देखते हुए शांति व्‍यवस्‍था बरकरार रखने के लिए बेंगलुरु में लगभग 14 हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। एमडीए के गठन के प्रयास को मराठाओं को लुभाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है जो महाराष्ट्र से लगती सीमा पर बीदर जिले के बसवा कल्याण में प्रभुत्व रखते हैं। कुछ महीनों पहले कोरोना वायरस की वजह से कांग्रेस के मौजूदा विधायक बी नारायण राव की मृत्यु होने के कारण बसवा कल्याण विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है।