Indian Railways: भारतीय रेलवे ने महंगा किया टिकट, स्टेशन जाने से पहले जान लें किराया

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने मकर संक्रांति (Makar Sankranti) उत्सव के दौरान दक्षिणी राज्यों में 20 जनवरी, 2022 तक किराए में वृद्धि करने का फैसला किया है। दक्षिण मध्य रेलवे (South Central Railway) की अधिसूचना के अनुसार, सिकंदराबाद, हैदराबाद, लिंगमपल्ली, और बेगमपेट रेलवे स्टेशनों तथा सिकंदराबाद डिवीजन के अन्य प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट की दरों में अस्थायी रूप से वृद्धि की गई है।

रेलवे ने कोरोनो वायरस (Coronavirus) के मामलों में वृद्धि को देखते हुए भीड़ के प्रवाह को नियंत्रित करने के उद्देश्य से किराए में बढ़ोतरी का फैसला किया है। ज्यादातर स्टेशनों पर रेलवे ने किराया दोगुना कर दिया है जबकि सिकंदराबाद स्टेशन पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत मूल कीमत से पांच गुना बढ़ा दी गई है। प्लेटफॉर्म टिकट की बढ़ी हुई कीमतें 20 जनवरी, 2022 तक लागू रहेंगी।

किस रेलवे स्टेशन पर कितने का हुआ प्लेटफॉर्म टिकट?

सिकंदराबाद पर 50 रुपये, हैदराबाद पर 20 रुपये, वारंगल पर 20 रुपये, खम्मम पर 20 रुपये, लिंगमपल्ली पर 20 रुपये, काजीपेट पर 20 रुपये, महबूबाबाद पर 20 रुपये, रामागुंडम पर 20 रुपये, मंचिरयाल पर 20 रुपये, भद्राचलम रोड पर 20 रुपये, विकाराबाद पर 20 रुपये, तंदूर पर 20 रुपये, बीदर पर 20 रुपये, परलीवैजनाथ पर 20 रुपये और बेगमपेट पर भी 20 रुपये का प्लेटफॉर्म टिकट हो गया है।

बता दें कि रेलवे स्टेशन पर जाने के लिए भी टिकट की जरूरत होती है। इस टिकट को प्लेटफार्म टिकट कहा जाता है। बिना प्लेटफार्म टिकट के अगर आप रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर जाते हैं, तो यह अपराध माना जाता है और उसके लिए टीटी आप पर जुर्माना भी लगा सकता है। हालांकि, जिस शख्स को यात्रा करना है और उसने यात्रा का टिकट ले रखा है, तो उस स्थिति में शख्स को अलग से प्लेटफॉर्म टिकट की जरूरत नहीं होती है।