जूनियर पहलवान सागर की हत्या में मुख्य आरोपित सुशील ने कुत्तों पर भी की थी फायरिंग

जूनियर पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में मुख्य आरोपित पहलवान सुशील कुमार को लेकर कई महीने के बाद हैरान करने वाली जानकारी मिली है। पता चला है कि जूनियर पहलवान सागर धनखड़ की हत्या से कुछ घंटे पूर्व ओलिंपियन सुशील कुमार ने छत्रसाल स्टेडियम में भौंकते हुए कुत्तों पर फायरिंग भी की थी। इसके साथ वहां पर मौजूद एक पहलवान को पिस्टल लहराकर उसे भगा दिया था। सुशील के सिक्योरिटी गार्ड अनिल धीमान और दूसरे आरोपतों के बयानों के आधार पर पुलिस ने रोहिणी कोर्ट के सामने भी ये बातें रखीं हैं।

पिछले तकरीबन 2 साल से सुशील से जुड़े अनिल धीमान ने पूछताछ में बताया कि घटना वाली रात को सुशील ने अपने कई साथियों को फोन कर बुलाया था। अनिल का कहना है कि वह किसी को सबक सीखाना चाहते थे। अनिल धीमान के अलावा, एक अन्य आरोपित राहुल ने पूछताछ में बताया कि सुशील के पास लायसेंसी पिस्टल था। छत्रसाल स्टेडियम में जब कुत्तों का झुंड भौंकने लगा तो गुस्साए सुशील ने उनकी ओर फायरिंग कर दी। घटना से पहले एक पहलवान विकास से उसका फोन भी छीन लिया था।

अनिल धीमान का कहना है कि  जूनियर  पहलवान का 4 मई की रात को अपहरण कर लिया गया था और उन्हें छत्रसाल स्टेडियम ले जाया गया था। सुशील के कहने पर मारपीट की गई। बता दें कि सबूतों और गंवाहों के चलते सुशील कुमार अधिकतम फांसी अथवा उम्रकैद की सजा हो सकती है।

बता दें कि आरोप है कि 4-5 मई की रात को बाहरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम परिसर में सुशील कुमार ने अपने साथियों के साथ मिलकर जूनियर पहलवान सागर धनखड़ को इस कदर पीटा कि बाद में उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद फरार हुए मुख्य आरोपित सुशील कुमार को बड़ी मुश्किलों के बाद गिरफ्तार किया था। सुशील और अन्य आरोपितों पर दिल्ली पुलिस पर चार्जशीट दाखिल कर चुकी है, जिसमें उसे मुख्य आरोपित बनाया गया है।