Haryana: मेधा पाटकर व योगेंद्र यादव के नेतृत्व में किसानों ने किया दिल्ली के लिए कूच

 राजस्थान से आए विभिन्न संगठनों से जुड़े कार्यकर्ताओं एवं किसानों को रोकने के लिए जिला पुलिस ने जयसिंहपुर खेड़ा बार्डर के निकट दिल्ली-जयपुर हाईवे को बंद कर दिया है। बार्डर पर सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर व स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय योगेंद्र यादव समर्थकों के साथ बार्डर पर धरना देकर बैठ गए हैं।

पुलिस महानिरीक्षक दक्षिण रेंज विकास अरोड़ा, उपायुक्त यशेंद्र सिंह, एसपी अभिषेक जोरवाल, एसडीएम रविंद्र यादव सहित अन्य अधिकारी बार्डर पर पहुंचकर लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। कार्यकर्ता व किसान दिल्ली जाना चाहते हैं लेकिन पुलिस उन्हें वापस राजस्थान जाने के लिए कह रही है। पुलिस लोगों को आगे जाने की इजाजत नहीं दे रही है।

पहले ही दी थी चेतावनी

किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। जिला के साथ लगते राजस्थान के बार्डर पर शनिवार को भी बड़ी तादाद में पुलिस तैनात की गई थी। अर्ध सैनिक बल के जवानों ने भी पूरी स्थिति को संभाला हुआ है। शनिवार को भी बड़ी तादाद में किसान खेड़ा बार्डर पर पहुंचे थे, लेकिन उन्हें वापस लौटा दिया गया था। स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने पहले ही चेतावनी दी थी कि 13 दिसंबर को राजस्थान के किसान दिल्ली के लिए कूच करेंगे। योगेंद्र यादव व उनके समर्थक रविवार को सुबह शाहजहांपुर टोल के निकट एकत्रित हुए। किसानों को समर्थन देने के लिए दिल्ली से सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर भी शाहजहांपुर पहुंची। शाहजहांपुर से चलकर किसान व सामाजिक कार्यकर्ता जयसिंहपुर खेड़ा बार्डर पर पहुंचे। यहां पर पुलिस ने उन्हें रोक दिया है।

हाईवे जाम, लगी वाहनों की कतार

किसान आंदोलन के चलते दिल्ली-जयपुर हाईवे को बंद कर दिया गया है। हाईवे बंद होने से स्थिति काफी विकट हो गई है। हाईवे के दोनों और सैकड़ों की संख्या में वाहन फंसे हुए हैं। फिलहाल जाम की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात है।